पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत, शव लेने से परिवार ने किया इंकार

गाज़ियाबाद में सोमवार की रात बदमाशों ने एक पत्रकार पर गोली मारी थी, क्योंकि उसने 16 जुलाई को भांजी के साथ हुई छेड़छाड़ की शिकायत की थी। बुधवार की सुबह घायल पत्रकार ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

0
615
Vikram Joshi

Uttarpradesh: गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में बदमाशों के हमले में घायल हुए पत्रकार विक्रम जोशी (Vikram Joshi)  की मंगलवार देर रात इलाज के दौरान मौत हो गई। बीते सोमवार की रात बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी थी। गोली मारने से पहले बदमाशों ने पत्रकार (Vikram Joshi) को बुरी तरह पीटा भी था। घटना के वक्त बाइक पर पत्रकार की दो बेटियां भी बैठी थीं।

पाकिस्तान ने भी चीनी बीगो ऐप पर लगाया बैन, साथ ही दी ये चेतावनी

विक्रम (Vikram Joshi) ने बदमाशों के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया था। पत्रकार पर हुए हमले के बाद पीड़ित लड़की ने अपने साथ छेड़छाड़ की घटना को लेकर बयान भी दिया था। उसने बताया था कि कैसे आरोपी आते-जाते परेशान करते थे। उधर, पुलिस ने 16 जुलाई को पत्रकार की भांजी के साथ छेड़छाड़ मामले में दी गई शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने अबतक 9 आरोपियों को अरेस्ट किया है।

Rajasthan Politics: राजस्थान में चल रही सियासी हलचल पर आज आएगा फैसला

इसके अलावा न्यूज एजेंसी एएनआई (ANI) से बात करते हुए विक्रम जोशी के भांजे का कहना है कि कमाल-उ-दीन के बेटे सहित कुछ लड़के मेरी बहन के साथ छेड़छाड़ करते थे. मेरे मामा घर आ रहे थे, जब कमाल-उ-दीन के बेटे ने उन पर हमला किया और उन्हें गोली मार दी। मुख्य आरोपी के पकड़े जाने तक हम अपने मामा के पार्थिव शरीर को नहीं लेंगे।

बता दें कि घटना की एक सीसीटीवी फुटेज सामने आई है, जिसमें देखा जा सकता है कि पांच-छह बदमाश जोशी को घेरकर मार रहे हैं, तभी एक दूसरा अपराधी आता है, और उनके सिर में बिल्कुल करीब से गोली मार देता है। गोली लगने के बाद जोशी जमीन पर गिर जाते हैं और बदमाश भाग जाते हैं। जिसके तुरंत बाद उनकी बेटी पास में आती है और घबराई हुई मदद के लिए चिल्लाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here