कृषि बिल पर किसानों का रोष जारी, प्रदर्शन में योगेंद्र यादव शामिल

किसान 2 दिन से इस बिल के विरोध प्रदर्शन करते हुए नजर आ रहे है, साथ ही जगह-जगह चक्का जाम भी कर दिया है।

0
238
Farmer Bills 2020
किसान 2 दिन से इस बिल के विरोध प्रदर्शन करते हुए नजर आ रहे है, साथ ही जगह-जगह चक्का जाम भी कर दिया है।

Haryana: देशभर में किसान बिल को लेकर विरोध प्रदर्शन (Farmer Bills 2020) थमने का नाम नही ले रहा। ऐसे में इस बिल का विरोध सबसे ज्यादा पंजाब और हरियाणा में देखने को मिल रहा है। किसान 2 दिन से इस बिल के विरोध प्रदर्शन करते हुए नजर आ रहे है, साथ ही जगह-जगह चक्का जाम भी कर दिया है। दिल्ली बॉर्डर और पश्चिमी यूपी में किसान प्रदर्शन के लिए सड़कों पर तो उतरे, लेकिन बंद का मिला जुला ही असर रहा।

खास बात यह है कि कृषि बिल के विरोध (Farmer Bills 2020) में स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव भी शामिल है। योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) ने कहा कि हमारे दरवाजे किसानों के लिए हमेशा खुले हुए है। लेकिन केंद्र सरकार ने विधेयक लाकर किसानों के दरवाजे बंद कर दिए है। साथ ही कहा कि सरकार ने अकाली दल और आरएएस के लोगों से भी बातचीत करना मुनासिफ नहीं समझा, इसलिए सड़क का काम शुरू हो गया है, सड़क पर विरोध होगा और सरकार को घुटने पर लाएंगे। 27 सितंबर को हम इस बिल को लेकर बैठक जा रहे है।

आखिर क्यों हो रहा है विरोध? 

किसानों का साफ-साफ कहना है कि इस बिल (Farmer Bills 2020) का फायदा आढ़तियों या व्यापारियों को होगा, बाहर कि मंडियों से खरीदी में जो 6-7 प्रतिशत टेक्स देना होता था, अब इसे भी नहीं देना होगा। इस फैसले से मंडी व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो जाएगी। मंडी समिति कमजोर होंगी तो किसान धीरे-धीरे बिल्कुल बाजार के हवाले चला जाएगा। कई बार तो सरकार द्वारा तय रेट से अधिक भी मिल सकता है और कम भी।

कृषि बिल के विरोध में किसानों ने किया ‘रेल रोको’ आंदोलन, कई ट्रेनें रद्द

किसानों की इस चिंता के बीच राज्‍य सरकारों-खासकर पंजाब और हरियाणा को इस बात का डर सता रहा है कि अगर निजी खरीदार सीधे किसानों (Farmer Bills 2020) से अनाज खरीदेंगे तो उन्‍हें मंडियों में मिलने वाले टैक्‍स का नुकसान होगा। दोनों राज्यों को मंडियों से मोटा टैक्स मिलता है, जिसे वे विकास कार्य में इस्तेमाल करते हैं. हालांकि, हरियाणा में बीजेपी का शासन है इसलिए यहां के सत्ताधारी नेता इस मामले पर चुप्पी साधे हुए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here