पंजाब तक ही सीमित रह गया किसान आंदोलन, गायक-अभिनेता भी हुए प्रदर्शन में शामिल

पंजाब से शुरू हुई कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ विरोध की चिंगारी अब सिर्फ पंजाब तक ही सिमट कर रह गई है।

0
206
Farm Laws
पंजाब तक ही सीमित रह गया किसान आंदोलन, गायक-अभिनेता भी हुए प्रदर्शन में शामिल

Punjab: पंजाब से शुरू हुई कृषि सुधार कानून (Farm Laws) के खिलाफ विरोध की चिंगारी आखिर सिर्फ पंजाब तक ही सिमट कर रह गई है, हरियाणा में भी कुछ समय के लिए इन कानूनों के खिलाफ आवाज उठी थी लेकिन अब वहां ऐसा कुछ नहीं है। लगभग 2 महीनों से पंजाब में आंदोलन कर रहे किसान नेताओं ने कहा था कि 5 नवंबर को 200 किसान संगठन राष्ट्रव्यापी बंद का आयोजन करेंगे लेकिन ये सिर्फ पंजाब तक ही सीमित रहा। फिलहाल पंजाब के ही किसान संगठन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन (Farmers Protest) कर रहे हैं।

पंजाब के सीएम का जंतर-मंतर पर प्रदर्शन, मोदी सरकार पर साधा निशाना

र्सिफ पंजाब में हो रहे विरोध को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं का कहना है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार (Congress) किसानों को भड़का रही है, और राजनितिक फायदे के लिए पंजाब में जगह-जगह धरना प्रदर्शन किए जा रहे हैं। बीजेपी नेता विनीत जोशी कहते हैं, ‘यही कारण है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार राज्य के हितों को नजरअंदाज करके आंदोलन की आग को हवा दे रही है अगर सरकार चाहती तो इतनी जगहों पर धरने प्रदर्शन आयोजित ना होते।’

विनीत जोशी का मानना है की धरने -प्रदर्शन आयोजित करने की इजाजत देना या ना देना संबंधित जिला प्रशासन के हाथ में होता है। यही कारण है कि हरियाणा में कानून व्यवस्था के चलते धरने प्रदर्शन सिमट गए और पंजाब में खुली छूट मिलने के कारण आज भी जारी है। जबकी हरियाणा में भी किसानों की संख्या काफि है।

कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र, विपक्ष ने किया प्रदर्शन

हालांकि पंजाब सरकार को काफी नुकसान भी हुआ है आपको बता दें 10 महीनों के अंदर पंजाब के उद्योग और केंद्र सरकार (Farm Laws) को हजारों रुपए का नुकसान हो चुका है अब तक 1986 यात्री ट्रेन और 3090 माल गाड़ियां रद्द की जा चुकी है। आंदोलनकारी किसान सड़को और रेलवे स्टेशनों पर डटे हुए हैं जिसके कारण इन सब को रद्द करना पड़ा है। पंजाब सरकार काफी परेशान है और अब आर्थिक संकट का शिकार भी हो चुकी हैं।

पंजाब में सरकार के साथ-साथ किसानों का भी नुकसान है किसानों को यूरिया और दूसरे उर्वरकों की आपूर्ति नहीं हो पा रही लेकिन फिर भी पंजाब में आंदोलन जारी है। बता दे, अब किसान को इस आंदोलन में गायक का भी साथ मिल रहा है पंजाब के मशहूर सिंगर 31 वर्षीय रजनीकांत बाबा समेत कई जानी-मानी हस्तियां इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हो कर किसानों का साथ दे रहे हैं। रजनीकांत का कहना है कि गायक इसलिए सड़कों पर आ रहे हैं क्योंकि ये उनके अस्तित्व की लड़ाई है।

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here