खबरदार! अगर दिल्ली में फोड़े पटाखे तो जाना होगा जेल

दिल्ली में अगर किसी ने भी 30 नवंबर तक पटाखे चलाने की कोशिश की तो सीधा जेल की हवा खानी पड़ेगी।

0
142
Firecrackers ban in Delhi-NCR
दिल्ली में अगर किसी ने भी 30 नवंबर तक पटाखे चलाने की कोशिश की तो सीधा जेल की हवा खानी पड़ेगी।

New Delhi: दिल्लीवासियों के लिए इस बार की दिवाली बिना पटाखों (Firecrackers ban in Delhi-NCR) के निकलेगी। दिल्ली में अगर किसी ने भी 30 नवंबर तक पटाखे चलाने की कोशिश की तो सीधा जेल की हवा खानी पड़ेगी। पटाखे चलाने वालों को डेढ़ साल से लेकर 6 साल तक की सजा हो सकती है। कोरोना के चलते और दिल्ली में प्रदूषण की वजह से पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दे दिए है। आपको बता दें एयर एक्ट के तहत पटखे फोड़ने (Firecrackers ban in Delhi-NCR) वालों पर कार्यवाई होगी। 

इन 18 राज्यों में पटाखों पर लगेगी रोक, NGT ने दिया आदेश

जुर्माने के साथ 6 साल की सजा-

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने वायु प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण अधिनियम के तहत पटाखों पर लागू प्रतिबंध का उल्लंघन (Firecrackers ban in Delhi-NCR)  करने वालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई कर सकती है। साथ ही ऐसे अपराध में 1 लाख का जुर्माना लगाए जाने और कम से कम डेढ़ साल से लेकर छह साल तक जेल की सजा का प्रावधान रखा गया है। विशेषज्ञों के माने तो, पराली जलाने की वजह से दिवाली तक राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण का स्तर ज्यादा खराब हो सकता है। दिल्ली पुलिस और राजस्व विभाग को पाबंदी के पालन के लिहाज से गश्ती दलों का गठन करने का निर्देश दिया गया है। 

कब हैं दिवाली? जानें पूजन का शुभ मुहूर्त और सामग्री की पूरी लिस्ट

एनजीटी और दिल्ली सरकार लगा चुकी है पटाखों पर रोक-

दिल्ली सरकार ने पिछले सप्ताह पटाखों की बिक्री और जलाए (Firecrackers ban in Delhi-NCR)  जाने पर सात नवंबर से लेकर 30 नवंबर तक पूर्ण प्रतिबंध लगाया था। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 9 नवंबर से लेकर 30 नवंबर तक पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। एनजीटी ने कहा कि पटाखे खुशियां मनाने के लिए हैं, न कि बीमारी और मृत्यु का उत्सव मनाने के लिए। इसलिए इस बार दिवाली पर पटाखों पर रोक लगाना बेहद जरुरी हो गया है। 

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here