नर्सों की हड़ताल से बढ़ी मरीजों की दिक्कते, अपनी मांगों पर अड़े नर्स यूनियन

नर्स यूनियन AIIMS Nursing के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से अस्पताल में भर्ती किए गए मरीजों की परेशानी बढ़ने वाली है।

0
453
AIIMS Nurses Strike
नर्स यूनियन AIIMS Nursing के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से अस्पताल में भर्ती किए गए मरीजों की परेशानी बढ़ने वाली है।

New Delhi: दिल्ली एम्स हॉस्पिटल की नर्सों (AIIMS Nurses Strike) ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया हैं। नर्स यूनियन ने यह जानकारी दी और बताया कि हमारी कई मांगों को लेकर पहले भी हमने अपील की है कि लेकिन अबतक हमारी मांगों को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है। ऐसे में उनके पास हड़ताल पर जाने के अलावा कोई रास्ता नही है। नर्सों की हड़ताल से दिल्ली के AIIMS में मरीजों की परेशानी बढ़ती जा रही हैं। नर्सिंग यूनियन ने आरोप लगाया है कि AIIMS प्रशासन (AIIMS Nurses Strike) बात करने को तैयार नहीं है। 

कुंभ के लिए रेलवे देगा ये सुविधा, जानें शाही स्नान की डेट

5 हजार नर्सिंग स्टाफ तैनात हैं-

नर्स यूनियन (AIIMS Nursing Union) के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से अस्पताल में भर्ती किए गए मरीजों की परेशानी बढ़ने वाली है। दरअसल, एम्स में करीब 5 हजार नर्सिंग स्टाफ तैनात है। इनमें महिला और पुरुष नर्स दोनों शामिल हैं। यही स्टाफ एम्स में भर्ती होने वाले सैकड़ों मरीजों की देखभाल करता है। इन सब के बीच अचानक हड़ताल पर चले जाना प्रशासन के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता हैं। 

कोरोना की चपेट में आया IIT मद्रास, इतने छात्र हुए संक्रमित

एक तरफ नर्स यूनियन (AIIMS Nursing Union) का कहना है कि हम सबका छठा वेतन आयोग लागू करना अहम मुद्दा है। इसके अलावा भी कई और मांगों पर उन्होंने यह हड़ताल करने का फैसला लिया है। तो वहीं दूसरी तरफ डॉ. रणदीप गुलेरिया (Dr Randeep Guleria) ने कहा कि नर्सों की 23 मांगें हैं। इनमें से ज्यादातर सरकार और एम्स (AIIMS)प्रशासन ने मान ली हैं। फिर भी नर्सिंग यूनियन हड़ताल पर चली गई, इससे मरीजों को देखभाल में दिक्कत हो सकती है। डॉ. रणदीप गुलेरिया ने नर्सिंग यूनियन को हड़ताल खत्म कर काम पर लौटने की अपील की है। लेकिन यूनियन पर उनकी इस अपील का कोई असर होता होता दिखाई नही दे रहा। 

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here