नाबालिग के साथ हैवानियत की घटना पर प्रदेश में चढ़ा सियासी पारा

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इस घटना पर दुख जाहिर करते हुए इसे शर्मनाक करार दिया. अखिलेश यादव ने भी मामले को लेकर प्रदेश सरकार पर को घेरा.

0
438
Lakhimpur Kheri
नाबालिग के साथ हैवानियत की घटना पर प्रदेश में चढ़ सियासी पार

Delhi: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur kheri) जिले में इंसानियत शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. जिले में एक 13 वर्षीय लड़की के साथ दरिंदगी की गई है. घटना इतनी हैवानियत से किया गया है कि आरोपियों ने बलात्कार के बाद नाबालिग की आंख और जीभ तक काट दी. और उसकी हत्या करके शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया था. उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) ने बताया कि दो आरोपियों को इस जघन्य अपराध के लिए गिरफ्तार किया गया है. पीड़िता के पिता ने बताया उसकी बेटी शुक्रवार दोपहर से लापता थी, हम उसको हर जगह तलाश कर रहे थे. एक गन्ने के खेत में हमें उसकी लाश मिली. पिता ने बताया जब हमने बेटी को देखा तो उसकी आंखें बाहर निकली हुई थीं और जीभ काट दी गई थी.

स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कोविड-19 की स्थिति को देख किया ये ऐलान

नेपाल से सटे लखीमपुर खीरी (Lakhimpur kheri) में हुई इस दिल दहला देने वाली घटना को लेकर लोगों में आक्रोश है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि पोस्टमार्टम में लड़की के साथ हुए बलात्कार की पुष्टी हो गई है. हालाकि उन्होंने पिता के दावे के अनुसार आंखे बाहर आने और जीभ काटे जाने की बात को खारिज किया है. लखीमपुर खीरी के एसपी सत्येंद्र कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में केवल रेप की पुष्टि हुई है. पुलिस के अनुसार दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि आरोपियों के खिलाफ बलात्कार, हत्या और नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी.

KHERI POLICE

फीस वसूली ना करने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

घटना के बाद सियासी पारा भी चढ़ गया है. पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इस घटना पर दुख जाहिर करते हुए इसे शर्मनाक करार दिया. पूर्व सीएम ने ट्वीट करते हुए कहा यूपी के लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद व शर्मनाक. ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अन्तर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई करे, बीएसपी की यह मांग है.

बाहुबली विधायक विजय मिश्रा एमपी से गिरफ्तार, परिवार को एनकाउंटर का डर

वही पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी मामले को लेकर प्रदेश सरकार पर को घेरा. अखिलेश यादव ने लिखा ‘ उप्र के लखीमपुर खीरी में एक बेबस किशोरी से दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या इंसानियत को झकझोर देने वाली घटना है. भाजपाकाल में उप्र की बच्चियों व नारियों का उत्पीड़न चरम पर है. बलात्कार, अपहरण, अपराध व हत्याओं के मामले में भाजपा सरकार प्रश्रयकारी क्यों बन रही है?’

वही भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने भी इस घटना को लेकर योगी सरकार का घेराव किया. आजाद ने ट्विटर पर लिखा कि BJP सरकार में दलित उत्पीड़न चरम पर है. लखीमपुर खीरी के पकरिया गाँव में दलित नाबालिग के साथ दरिंगगी के बाद उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई. अगर यह जंगल राज नही है तो फिर जंगल राज किसे कहते हैं? हमारी बेटियां सुरक्षित नही, हमारे घर सुरक्षित नही, हर तरफ भय का माहौल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here