पीएम ने बिहार में ऐतिहासिक ‘कोसी रेल महासेतु’ का उद्घाटन किया

पीएम ने सहरसा-असनपुर कुपहा रेल सेवा को हरी झंडी दिखा कर शुरू किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि "आज बिहार में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है।

0
325
Kosi Rail Mega Bridge
पीएम ने बिहार में ऐतिहासिक 'कोसी रेल महासेतु' का उद्घाटन किया

Bihar: बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) लगातार बिहारवासियों को खास सौगात दे रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बिहार में ऐतिहासिक ‘कोसी रेल महासेतु’ (Kosi Rail Mega Bridge) समेत रेलवे की 12 परियोजनाओं का उद्घाटन किया। यह रेलपुल मिथिला, कोसी और सीमांचल के साथ-साथ पूर्वोत्तर भारत के राज्यों को जोड़ेगा।

पीएम मोदी ने किया कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन, जानिए खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिये रिमोट का बटन दबा कर परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। साथ ही पीएम ने सहरसा-असनपुर कुपहा रेल सेवा को हरी झंडी दिखा कर शुरू किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि “आज बिहार में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है। कोसी महासेतु (Kosi Rail Mega Bridge) और किउल ब्रिज के साथ ही बिहार में रेल यातायात, रेलवे के बिजलीकरण, रेलवे में मेक इन इंडिया को बढ़ावा, नये रोजगार पैदा करनेवाले एक दर्जन परियोजनाओं का आज लोकार्पण और शुभारंभ हुआ।”

शुक्रवार को 516 करोड़ रुपये की लागत से बने कोसी रेल महासेतु के उद्घाटन के साथ कोसी और मिथिलांचल के लोगों का 86 साल पुराना सपना साकार हो गया। कोसी नयदी पर इस रेल पुल के बनने से सबसे ज्यादा फायदा दरभंगा, मधुबनी, सुपौल और सहरसा जिले में रहने वाले लोगों को मिलेगा। यही नहीं, इससे नॉर्थ ईस्ट के साथियों के लिए एक वैकल्पिक रेलमार्ग भी उपलब्ध हो जाएगा।

PM मोदी ने चुनाव से पहले बिहार को दी 541 करोड़ की सौगात

रेलवे कर्मचारियों की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “जिस तरह से कोरोना के समय में रेलवे ने काम किया है, काम कर रही है, उसके लिए मैं भारतीय रेल के लाखों कर्मचारियों की विशेष प्रशंसा करता हूं। देश के लाखों श्रमिकों को श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए रेलवे ने दिन-रात एक कर दिया था।”

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि “पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने मुझे रेलमंत्री बनाया था। उस समय 2003 जून में ही कोसी महासेतु का शिलान्यास किया था। साथ ही प्रधानमंत्री ने मैथिली भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने का आश्वासन दिया था, जिसे शामिल कर लिया गया है। पूर्व पीएम अटल जी के कारण कोसी महासेतु का सपना साकार हुआ।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here