श्रीनारायण की हत्या के बाद राजनीति गरमाई, तेजस्वी ने कड़ी कार्रवाई की मांग

0
255
Murder Case in Bihar
बिहार चुनाव में खूनी खेल शुरु हो गया है। शिवहर जिले में जनता दल के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह की हत्या कर दी गई।

Bihar: बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में खूनी खेल (Murder Case in Bihar) शुरु हो गया है। शनिवार शाम को शिवहर जिले में जनता दल के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह और उनके एक समर्थन की गोली मारकर हत्या की दी गई। आपको बता दें गया जिले के टिकरी विधानसभा से पप्पू यादव की पार्टी प्रत्याशी अजय यादव पर चुनाव प्रचार के दौरान शनिवार की देर शाम फायरिंग (Murder Case in Bihar) की गई। शिवहर हत्या कांड को लेकर सूबे की सियासत गरमा गई है। इधर, आज भी सीएम नीतीश सहित कई नेताओं की चुनावी जनसभा है। 

बिहार चुनाव को लेकर सियासी सर्गमिया तेज, राजनेताओं की चुनावी रैली जारी

बत दें चर्चाओं का बाजार गरम है। मामले को विधानसभा चुनाव (Murder Case in Bihar) में श्रीनारायण सिंह की बढ़ती लोकप्रियता और जनाधार को कारण बताया जा रहा है। मामले में माओवादियों की भूमिका की भी चर्चा हो रही है। लेकिन जिस तरह वारदात को अंजाम दिया गया है, उससे शक के घेरे में संतोष झा और मुकेश पाठक का भी नाम चर्चा में है। बताया जा रहा है कि संतोष और मुकेश के बीच हुई अदावत के बाद श्रीनारायण सिंह पाठक एंड गैंग में शामिल थे। संतोष झा की हत्या में मुकेश पाठक का सहयोग करने को लेकर श्रीनारायण सिंह सुर्खियों में रहे। 

दरअसल, मान्यता प्राप्त और रजिस्टर्ड राजनीतिक पार्टियों (Murder Case in Bihar) के लिए अलग-अलग नियम हैं। श्रीनारायण सिंह जिस पार्टी के उम्मीदवार थे, वो सिर्फ रजिस्टर्ड है। जनता दल राष्ट्रवादी पार्टी मान्यता प्राप्त नहीं है। इस कारण चुनाव के लिए तय प्रोग्राम में किसी प्रकार का बदलाव नहीं होगा। नॉमिनेशन की तारीख भी खत्म हो चुकी है। इस वजह से अब पार्टी श्रीनारायण सिंह की जगह कोई दूसरा उम्मीदवार भी खड़ा नहीं कर सकती है। 

हिस्ट्रीशीटर की बहन ने खाई नींद की गोली, बेहोशी के हालत में पहुंची विधानभवन

वहीं, अगर यह मान्यता प्राप्त पार्टी होती तो यहां पर नियम बदल जाते। सबसे पहले चुनाव कैंसिल कर दिया जाता। पूरे मामले रिव्यू करने के बाद चुनाव आयोग की तरफ से नए तारीखों का ऐलान किया जाता, फिलहाल शिवहर के मामले में ऐसा नहीं है। कल रात से ही अटकलें चल रही थी कि उम्मीदवार की हत्या के बाद चुनाव कैंसिल हो सकता है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी के कंफर्म करने के बाद फिलहाल ऐसी अटकलों पर अब विराम लग गया है और चुनाव पहले से निर्धारित समय पर ही होगा। 

राजनीति से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Political News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here