बिहार चुनाव में पीएम मोदी पर नजर, क्या नीतीश जीत पाएंगे जंग?

0
336
Bihar Election
बिहार विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दल प्रचार के लिए जुट गए है। चुनाव के लिए 23 अक्टूबर से चुनावी सभांए करने जा रहे है।

Bihar: बिहार विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दल प्रचार के लिए जुट गए है। चुनाव के लिए 23 अक्टूबर से चुनावी सभांए (Bihar Election) करने जा रहे है। सभी लोगों की निगाह इस पर है कि क्या इस पीएम मोदी के नाम पर वोट मिल पाएगा। पिछले चुनाव में नीतीश कुमार बीजेपी के खिलाफ खड़े हुए थे और तमाम कोशिशों के बाद भी मोदी फैक्टर कारगार (Bihar Election) साबित नही हो पाया था। लेकिन इस बार स्थितियां पलटती हुई नजर आ रही है। इस बार मोदी नीतीश कुमार को फिर से मुख्यमंत्री बनाने के लिए वोट मांग सकते है। 

तेजस्वी ने जारी किया घोषणा पत्र, चुनाव से पहले वादों की लगाई झड़ी

राजनीतिक जानकारों के अनुसार पिछला चुनाव 2015 में हुआ था, उस समय मोदी की लोकप्रियता चरम पर थी। नीतीश कुमार ने राजद के साथ मिलकर भाजपा के खिलाफ चुनाव (Bihar Election) लड़ा और जीतने में सफल रहे। मोदी की छवि बिहार चुनावों में तब कोई करिश्मा नहीं दिखा पाई थी। जिन सीटों पर भाजपा चुनाव लड़ रही है, वहां भी पार्टी का असली चेहरा नरेंद्र मोदी ही हैं। यानी जो भी हासिल होगा, वह मोदी के चेहरे पर ही होगा। हालांकि, इस मामले में मुस्लिम वोटों को लेना मुश्किल हो सकता है, लोजपा उम्मीदवारों के खड़े होने से भी चुनावों पर कहीं-कहीं असर पड़ेगा। यह कितना असर डालेगा, अभी कहना मुश्किल होगा। 

तारीखों का हुआ ऐलान, तीन फेज में वोटिंग, 10 नवंबर को आएंगे नतीजे

आपको बता दें नीतीश कुमार के ख़िलाफ़ कई शिकायते मिली हैं। वहीं कोरोना काल में नीतीश कुमार द्वारा लोगों के लिए उठाए गए कदमों की अगर आप चर्चा (Bihar Election) करेंगे तो वहां पर वो चाहे राशन कार्ड धारियों को एक हज़ार रुपये उनके खाते भी दिए गए हों या पेंशनधारियों को तीन महीने का अग्रिम भुगतान, हर चीज़ का क्रेडिट लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देते हैं और यही कहते हैं कि नीतीश कुमार ने थोड़ी दिया था वो तो सब प्रधानमंत्री मोदी ने हमारे लिए भेजे थे। यहां पर नीतीश कुमार का पूरे कोरोना काल से मीडिया से दूरी बनाए रखना, अब पीछे मुड़कर देखें तो आत्मघाती क़दम लगता है। ये साफ़ है कि अपने ऊपर अति आत्मविश्वास आज उनकी आलोचना का मुख्य कारण है जहां पर अपने ही कामों को लोगों तक नहीं पहुंचा पाए और साथ ही इसका खंडन किया। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here