बिहार में पुल गिरने से तेजस्वी यादव का नीतिश कुमार पर हमला

बिहार के गोपालगंज में 264 करोड़ की लागत से बना पुल (Bridge Collapse in Gopalganj Bihar) महज 29 दिन में ही ध्वस्त हो गया।

0
512
Bihar Bridge Collapse

Bihar: बिहार के गोपलगंज जिले में गंडक नदी पर 263 करोड़ रुपये की लागत से बना सत्तरघाट पुल (Bihar Bridge Collapse) का एक हिस्सा टूटकर नदी में बह गया। महज 29 दिन में ही यह पुल ध्वस्त हो गया। इससे पुल पर आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया है। 16 जून को ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar Government) ने पटना से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस महासेतु (Bihar Bridge Collapse) का उद्घाटन किया था।

बिहार में आकाशीय बिजली गिरने से अलर्ट जारी

राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री नंद किशोर यादव ने बयान देते हुए कहा है कि यह (Bihar Bridge Collapse) प्राकृतिक आपदा की वजह से हुआ है, इसमें तो सड़कें और पुल टूटते ही हैं।

मंत्री नंद किशोर ने कहा कि सत्तरघाट का पुल बिल्कुल सुरक्षित है। मुख्य सत्तरघाट पुल से दो किमी दूर एक अप्रोच रोड है, जो पानी के कटाव की वजह से बह गया है। यह प्राकृतिक आपदा है। इसमें तो सड़कें और पुल बह जाते हैं।

पिछले 24 घंटे में 32,695 नए केस, लगभग हर रोज़ रिकॉर्ड मामले दर्ज

वहीं पुल के ढहने पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार सरकार पर निशाना साधा है।उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ”8 वर्ष में 263.47 करोड़ की लागत से निर्मित गोपालगंज के सत्तर घाट पुल का 16 जून को नीतीश जी ने उद्घाटन किया था आज 29 दिन बाद यह पुल ध्वस्त हो गया।

आगे उन्होंने तंज कसते हुए लिखा कि, “खबरदार! अगर किसी ने इसे नीतीश जी का भ्रष्टाचार कहा तो? 263 करोड़ तो सुशासनी मुंह दिखाई है। इतने की तो इनके चूहे शराब पी जाते है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here