7 साल बाद श्रीसंत की मैदान पर वापसी, टीम में मिला मौका

दिल्ली पुलिस ने मई 2013 में मैच फिक्सिंग के आरोप में श्रीसंत और उनके दो राजस्थान रॉयल्स टीम के साथी अजीत चांडिला और अंकित छवन को गिरफ्तार किया था.

0
277
Sreesanth
S. Sreesanth

Delhi: सात साल के प्रतिबंध के बाद तेज गेंदबाज एस श्रीसंत (S.Sreesanth) को केरल क्रिकेट संघ (KCA) ने सितंबर में राज्य रणजी क्रिकेट टीम (Domestic Cricket) में लेने का फैसला किया है. दिल्ली पुलिस ने मई 2013 में मैच फिक्सिंग के आरोप में श्रीसंत (Sreesanth) और उनके दो राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royal) टीम के साथी अजीत चांडिला और अंकित छवन को गिरफ्तार किया था. बाद में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने उन पर आजीवन प्रतिबंध (Lifetime Ban) लगा दिया था. इसके बाद उन्होंने लंबी लड़ाई लड़ी जिसके बाद साल 2015 में दिल्ली की एक विशेष अदालत ने उन्हें सभी आरोपों से बरी कर दिया था.

टल सकता है T20 विश्व कप 2020, जानिए क्यों

केरल उच्च न्यायालय ने भी 2018 में श्रीसंत (Sreesanth) पर आजीवन प्रतिबंध लगाने के बीसीसीआई (BCCI) के फैसले को रद्द कर दिया था. लेकिन 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने उनके अपराध को बरकरार रखा और बीसीसीआई को सजा की मात्रा कम करने को कहा. बाद में बीसीसीआई ने उनके जीवन प्रतिबंध को सात साल कर दिया था जो सितंबर 2020 तक समाप्त हो जाएगा.

श्रीसंत ने कहा कि, “मैं वास्तव में अपने आप को मौका देने के लिए केसीए का आभारी हूं. मैं अपनी फिटनेस और तूफान को खेल में वापस साबित करूंगा. यह सभी विवादों को शांत करने का समय है.”. हाल ही में केसीए ने पूर्व तेज गेंदबाज टीनू योहानन को टीम का कोच नियुक्त किया था. केसीए के सचिव सीरीथ नायर ने कहा कि उनकी वापसी राज्य टीम के लिए एक संपत्ति होगी.

मैं सुशांत की सुसाइड पर दुख जाहिर करने की स्थिति में नहीं – धोनी

कोच्चि के रहने वाले श्रीसंत जो ऑन-फील्ड प्रैंक्स के लिए कुख्यात हैं उन्होंने 27 टेस्ट में 87 विकेट और एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 75 विकेट लिए. वह 2011 में विश्व कप क्रिकेट विजेता टीम के सदस्य भी थे. स्पिनर हरभजन सिंह ने इंडियन प्रीमियर लीग के एक मैच के बाद उन्हें एक बार थप्पड़ मार दिया था. स्विंग गेंदबाज की राजनीति में भी छोटी पारी थी. पिछले विधानसभा चुनाव में वह तिरुवनंतपुरम केंद्रीय निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार थे लेकिन श्रीसंत कांग्रेस उम्मीदवार वी एस शिवकुमार से हार गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here