Sports DesK: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड दुनिया के सबसे ताकतवर क्रिकेट बोर्ड में (icc vs bcci which is more powerful) से एक माना जाता है। अपनी बात को मजबूती से रखने और इसको लेकर बाकी क्रिकेट बोर्ड को सहमत करने के लिए भी BCCI को जाना जाता है। अब एक बार फिर ICC और BCCI के बीच अहसमति नजर आ रही है। मामला 2023 के बाद अगले (icc vs bcci which is more powerful) आठ साल तक होने वाले टूर्नामेंट के आयोजन का है।

BCCI ने 2023 से 2031 के बीच अगले आठ साल के चक्र के (icc vs bcci which is more powerful) दौरान वैश्विक टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए ICC की बोली आमंत्रित करने की नीति पर अपना विरोध व्यक्त किया है। ICC की बोर्ड बैठक के दौरान BCCI ने स्पष्ट किया कि वे वैश्विक संस्था के बोली आमंत्रित करने और किसी संभावित मेजबान देश से धनराशि की मांग करने के विचार के पूरी तरह से खिलाफ हैं।

ये भी पढ़े: विस्फोटक बल्लेबाज़ यूसुफ पठान ने क्रिकेट को कहा अलविदा, Tweet कर संन्यास का किया ऐलान

इसकी जानकारी रखने वाले BCCI के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, ‘बीसीसीआइ अधिकारियों ने गुरुवार की बोर्ड बैठक के दौरान अगले चक्र के लिए बोली आमंत्रित करने के विचार के बारे में अपनी अनिच्छा स्पष्ट कर दी है। बल्कि, हमें पूरा भरोसा है कि हमें इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से भी अच्छा सहयोग मिलेगा।’

ये भी पढ़ें: अहमदाबाद टेस्ट में भारत की जीत, 10 विकेट से इंग्लैंड को दी मात

बोली आमंत्रित करने के इस विचार को ICC मुख्य कार्यकारी मनु साहनी का भी समर्थन प्राप्त है, जिनके पास इसके लिए पाकिस्तान और श्रीलंका के बोर्ड का सहयोग है। सूत्र ने कहा, ‘यहां तक कि कुछ छोटे बोर्ड जैसे ओमान और एमिरेट्स क्रिकेट बोर्ड के साथ मलेशिया और सिंगापुर उन बोर्ड में शामिल हैं जिन्होंने वैश्विक टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए संयुक्त बोली में दिलचस्पी सौंपी है।’

खेल से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Sports News in Hindi  


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here