चुनाव आयोग ने बनाया खास कंट्रोल रूम, ईवीएम पर रखी जाएगी पैनी नजर

0
151
file photo

नई दिल्ली, लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों का फाइनल काउंटडाउन शुरू हो गया है. महज कुछ घंटों बाद यह साफ हो जाएगा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में किस राजनीतिक दल की नई सरकार बनने जा रही है. हालांकि, फाइनल नतीजों से पहले आए एग्जिट पोल के अनुमानों ने बीजेपी की सत्ता वापसी के संकेत दिए हैं और विपक्षी खेमे ने ईवीएम खुलने से पहले ही उसकी शिकायतों का पिटारा खोल दिया है.

मंगलवार को राजधानी दिल्ली में एक तरफ जहां 22 राजनीतिक दलों के नेता ईवीएम के खिलाफ मोर्चा खोल रहे थे, वहीं दूसरी तरफ चुनाव आयोग के दफ्तर में ईवीएम संबंधी शिकायतों का समाधान करने के लिए कंट्रोल रूम ने अपना काम शुरू कर दिया. ईवीएम से जुड़ी तमाम आरोपों को चुनाव आयोग हमेशा से नकारता रहा है. अब आयोग ने ईवीएम से जुड़ी शिकायतों पर तत्काल एक्शन के लिए कंट्रोल रूम भी स्थापित किया है.

मंगलवार को राजधानी दिल्ली में एक तरफ जहां 22 राजनीतिक दलों के नेता ईवीएम के खिलाफ मोर्चा खोल रहे थे, वहीं दूसरी तरफ चुनाव आयोग के दफ्तर में ईवीएम संबंधी शिकायतों का समाधान करने के लिए कंट्रोल रूम ने अपना काम शुरू कर दिया. चुनाव आयोग के बयान के मुताबिक, यह कंट्रोल रूम चुनाव परिणाम आने तक 24 घंटे कार्यरत रहेगा. इसके जरिए ईवीएम की शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी.

वहीं, चुनाव आयोग ने मतदान के बाद ईवीएम को मतगणना स्थलों तक पहुंचाने में गड़बड़ी और उनके दुरुपयोग को लेकर विभिन्न इलाकों से मिली शिकायतों को शुरुआती जांच के आधार पर गलत बताते हुए कहा है कि मतदान में प्रयोग की गई ईवीएम और वीवीपैट मशीनें ‘स्ट्रॉन्ग रूम’ में पूरी तरह से सुरक्षित हैं.

विभिन्न इलाकों से ईवीएम को मिल रही शिकायतों के बाद ही आयोग ने कंट्रोल रूम स्थापित किया है. इसके जरिए सभी लोकसभा क्षेत्रों में ईवीएम और वीवीपैट मशीनों को सुरक्षित रखने के लिए बनाए स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा और मशीनों के रख-रखाव संबंधी शिकायतों पर सीधे कंट्रोल रूम से जांच कर कार्रवाई की जाएगी. कंट्रोल रूम से ही देश भर में बनाए गए स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा की निगरानी की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here