इस्लाम छोड़ कर आजाद होकर जीना चाहती थी, लेकिन एयपोर्ट पर ही पकड़ी गई

0
48

बैंकॉक एयरपोर्ट पर 18 साल की सऊदी अरब की एक युवती को अपना देश छोड़ने पर पकड़ा गया. इस युवती का नाम रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून है. उनका कहना है कि वह वापस अपने देश नहीं जाना चाहती और उसे भेजा गया तो उसकी मार दिया जाएगा. अमीर परिवार से ताल्लुक रखनेवाली रहाफ के पिता एक बड़े बिजनसमैन हैं. लड़की का कहना है कि उसके परिवार की कठोर पाबंदी से बचने का उसके पास यही एक रास्ता है.

रहाफ ने ट्वीट किया, ‘मैं अकेले रह सकती हूं, स्वतंत्र और उन सब लोगों से दूर जो मेरी गरिमा का और मेरे औरत होने का सम्मान नहीं करते. मेरे साथ परिवार ने हिंसक व्यवहार किया और मेरे पास इसके पर्याप्त सबूत हैं.’ रहाफ ने सिलसिलेवार कई ट्वीट किए हैं और कई लोगों से मदद की गुजारिश की. संयुक्त राष्ट्र से भी रहाफ ने अपने लिए शरण देने की मांग की.

राहफ का कहना है कि मैं नास्तिक हूं और मेरे पास परिवार से भागने के लिए यही अकेला रास्ता है. एक बार मैंने अपने बाल कटवा लिए थे, जिसके बाद मुझे 6 महीने तक घर में बंद करके परिवार ने रखा. मेरी फैमिली बहुत सख्त है और मैं उस जीवन से छुटकारा चाहती हूं.

घर से भागने के बारे में उन्होंने कहा, ‘मैं कुवैत तक कार से एक फैमिली हॉलिडे के लिए आई थी. सुबह के 4 बज रहे थे और मैंने देखा कि मेरे परिवार के सारे लोग सो रहे हैं. मुझे लगा कि मेरे पास यही एक आखिरी मौका है इस कैद से छुटकारा पाने का. मैंने ऑस्ट्रेलिया का टिकट लिया क्योंकि वहां का टूरिस्ट वीजा मिलना काफी आसान होता है. मेरा लक्ष्य था कि ऑस्ट्रेलिया पहुंचकर मैं अपने लिए शरण देने की मांग करूंगी.’

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here