ईद क्यों मनाते हैं, कैसे हुई थी शुरुआत…ऐसा है इस्लाम में महत्व

कोरोना वायरस की वजह से भीड़ कम देखने को मिली है। साथ ही 50 फीसदी क्षमता के साथ त्योहार को बनाया जाने वाला है।

0
187
Eid-ul-Adha 2021 History
कोरोना वायरस की वजह से भीड़ कम देखने को मिली है। साथ ही 50 फीसदी क्षमता के साथ त्योहार को बनाया जाने वाला है।

पूरी दुनिया में अलग-अलग तरह की त्योहार बनाए जाते है। जिसमें से एक त्योहार बकरीद (Eid-ul-Adha 2021 History) भी है। इस अवसर पर बाजरों में भीड़ और रौनक होती है। लेकिन इस बार कोरोना वायरस की वजह से भीड़ कम देखने को मिली है। साथ ही 50 फीसदी क्षमता के साथ त्योहार को बनाया जाने वाला है। आप सभी को पता होगा कि बकरी ईद किस दिन बनाई जाती है, लेकिन आज हम आपको इतिहास और महत्व भी बताने जा रहे है।

बकरीद ईद का इतिहास (History of Bakrid Eid)

हजरत इब्राहिम को अल्लाह का बंदा माना जाता हैं, जिनकी इबादत पैगम्बर के तौर पर की जाती है। इन्हें इस्लाम मनाने वाले अल्लाह का दर्जा दिया जाता है। एक बार खुदा ने हजरत मुहम्मद साहब का इम्तिहान लेने के लिए आदेश दिया कि हजरत अपनी सबसे अजीज की कुर्बानी देंगे, तभी वे खुश होंगे। हजरत मुहम्मद साहब का सबसे खास बेटा था। वे बेटे की कुर्बानी देने के लिए तैयार हो गए।

जब कुर्बानी का समय आया तो हजरत इब्राहिम ने अपनी आँखों पर पट्टी बांध ली और अपने बेटे की कुर्बानी दी, लेकिन जब आँखों पर से पट्टी हटाई तो बेटा सुरक्षित था। अहम बात ये है कि इब्राहीम के अजीज बकरे की कुर्बानी अल्लाह ने कुबूल की। अल्लाह ने खुस होकर बच्चे की जान बक्श दी। तब से बकरीद की पंरपरा शुरु हो गई।

क्यों मनाई जाती है बकरी ईद (Why is Bakri Eid celebrated)

रजमान के पाक महीने में रोजे रखने के बाद अल्लाह एक दिन अपने बंदों को बख्शीश और इनाम देता है। इसीलिए इस दिन को ईद कहते हैं। बख्शीश और इनाम के इस दिन को ईद-उल-फितर भी कहा जाता है।

कैसे हुई शुरुआत (How Bakri Eid started)

पैगंबर मुहम्मद ने सन् 624 ईस्वी में जंग-ए-बदर के बाद हुई थी। पैगंबर हजरत मोहम्मद ने बद्र के युद्ध में जीत हासिल की। इसकी खुशी में ईद के दिन मस्जिदों में सुबह की नमाज अदा होने लगी। इसके बाद से दान या जकात दिया जाने लगा। 

Also Read: इस साल कब मनाया जाएगा रक्षाबंधन ? जानिए राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here