रानी लक्ष्मीबाई जयंती पर भारत में उत्साह का माहौल, इन शहरों में रानी वीरांगना को किया सम्मानित

छोटी उम्र में ऐसा कर दिखाया जो बहदुरी की मिशाल बन गया। रानी लक्ष्मीबाई की कहानियाँ भारत के घर-घर में गूंजती है

0
111
रानी लक्ष्मीबाई जयंती 2021
रानी लक्ष्मीबाई जयंती पर भारत में उत्साह का माहौल, इन शहरों में रानी वीरांगना को किया सम्मानित

खूब लड़ी मर्दानी वे तो झाँसी वाली रानी थी’ ये सिर्फ पंक्ति नही हमारे देश का गुरुर है। हमारे देश में कई क्रांतिकारीयों की कहानियाँ मशहूर (Rani Lakshmi Bai Jayanti 2021) है और उन में से एक ऐसी क्रांतिकारी की कहानी भी है। जिसने छोटी उम्र में ऐसा कर दिखाया जो बहदुरी की मिशाल बन गया।

रानी लक्ष्मीबाई की कहानियाँ भारत के घर-घर में गूंजती है, जिनके सहास और बहादुरी कि मिसाल हमेशा जवानों और देश कि महिलाओं के लिए एक उदहारण रहेगीं, वही 1857 की क्रांति में उनके योगदान को भारत कभी नहीं भूलेगा। झांसी की रानी वीरांगना लक्ष्मीबाई की आज 193 वीं जयंती है। रानी लक्ष्मीबाई को याद करते हुए देश में कई कार्यक्रम किए गए। आइए जानते है किन-किन शहरों में वीरांगना को सम्मानित किया गया है।

लड़कियां अपनी आत्मरक्षा खुद कर सकती हैं

रानी लक्ष्मी बाई (Rani Lakshmi Bai Jayanti 2021) की 193वीं जयंती के मौके पर इंदौर में 101 लड़कियों के लिए तलवार से जंग लड़ने की ट्रेनिंग देने का इंतजाम किया गया। इस दौरान लड़कियों ने कार्यकाम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। जहाँ ट्रेनिंग पाने वाली एक युवती ने अपने विचार बताते हुए कहां कि मैं लोगों को बताना चाहती हूं कि आज की लड़कियां अपनी आत्मरक्षा खुद कर सकती हैं। सभी लड़कियां गलत का विरोध करें और इसके खिलाफ आवाज उठाएं वे अपनी आत्मरक्षा स्वंय करें।

छात्राओं को झांसी की रानी बनने की जरूरत है

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की स्थानीय इकाई की तरफ से नगर पंचायत फूलपुर के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में एक सम्मिलन का आयोजन भी किया गया। जहां जिला संयोजक शिव कुमार तिवारी तेजस्वी ने छात्राओं के लिए कहा कि छात्राओं को झांसी की रानी बनने की जरूरत है। जो अपने राष्ट्र और स्वाभिमान की रक्षा के लिए शहीद हो गई। वे भारतीय नारी की वीरता के प्रतीक है। विद्यालय की छात्राओं ने पदयात्रा निकालकर रानी लक्ष्मीबाई को नमन किया।

रानी लक्ष्मीबाई को नमन करते योगी

झांसी जलसा का उद्घाटन करने पहुंचे यूपी के मुख्यमंत्री योगा आदित्यनाथ ने अभार जताते हुए कहा कि आज हमें सेनानी की धारती पर गर्व महसूस होता हैं। उन्होनें सम्पूर्ण झांसी वासियों को बधाई देते हुए कहां कि इस धरती पर रानी लक्ष्मी का बलिदान हम सब में सदैव राष्ट्र रक्षा के प्रति समर्पण का भाव पैदा करता रहेगा। 

Also Read: कार्तिक पूर्णिमा का महत्व क्या है, इस दिन कौन-सी राशि क्या दान करें ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here