रामलीला मैदान में राष्ट्रीय अधिवेशन में बोले पीएम मोदी- चौकीदार रुकने वाला नहीं

0
56

दिल्ली के रामलीला मैदान में बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के तमाम मंत्रिओं और कार्यकर्ताओं को संबोधन किया. अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि संगठन के संस्कार से अगर हम तपे नहीं होते तो दूसरों की मीठी मीठी बातों से हम फिसल चुके होते. पार्टी परंपराओं को अपने जीवन में ढालकर, अनुशासन और लाखों कार्यकर्ताओं के तप व त्याग से आज हम यहां पहुंचे हैं.

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरा मन आज ज्यादा बोलने का है. कभी दो कमरों से चलने वाली पार्टी, दो सांसदों वाली पार्टी आज इस विशाल स्वरूप में अपना राष्ट्रीय अधिवेश कर रही है जो अपने आप में अद्भुत और अविस्मरणीय है. यह राष्ट्रीय परिषद की पहली बैठक है जो अटलजी के बिना हो रही है. वो आज जहां से भी हमें देख रहे होंगे, उन्हें अपने बच्चों की इस ऊर्जा औ राष्ट्र के प्रति समर्पण को देखकर संतोष हो रहा होगा.

पीएम ने कहा संगठन के संस्कार से अगर हम तपे नहीं होते तो दूसरों की मीठी मीठी बातों से हम फिसल चुके होते. पार्टी परंपराओं को अपने जीवन में ढालकर, अनुशासन और लाखों कार्यकर्ताओं के तप व त्याग से आज हम यहां पहुंचे हैं.

उन्होंने अयोध्या विषय में कहा कि कांग्रेस अपने वकीलों के माध्यम से न्याय प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस नहीं चाहती की अयोध्या विषय का हल आए. कांग्रेस का ये रवैया किसी को भूलना नहीं चाहिए वो मजबूर सरकार चाहते हैं ताकि रक्षा सौदों में दलाली खाई जा सके, हम मजबूत सरकार चाहते हैं जिससे देश की सेना की हर जरूरत को पूरा कर सकें.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसका नामदार परिवार सिस्टम को कैसे तोड़ता है उसका ये उदाहरण है कि नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस अध्यक्ष व अन्य नेता जमानत पर बाहर हैं. इस केस से पता चलता है कि कांग्रेस के नेता जनता का जमीन व धन भी हड़प लेते हैं.

आजादी से लेकर 2008 तक 60 सालों में बैंकों ने मात्र 18 लाख करोड़ रुपये का लोन दिया था. लेकिन 2008 से 2014 तक ये आंकड़ा बढ़कर 52 लाख करोड़ हो गया यानि कांग्रेस के आखरी 6 साल में 34 लाख करोड़ के लोन दिए गए. हमने कांग्रेस प्रोसेस वाली लोन व्यवस्था पर लगाम लगाई है. इसका परिणाम है कि जहां पहले बैंकों का पैसा जा रहा था, वहीं अब बैंकों का पैसा वापस आ रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here