शहीद जवानों के परिजनों को मिलने वाला मुआवजा मोदी सरकार ने चौगुना किया, रक्षामंत्री ने किया ऐलान

केंद्र में जब से मोदी सरकार बनी है तब से सेना के जवानों के लिए कुछ न कुछ घोषणाएं हो रही हैं। ताजा घोषणा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीदों के परिजनों को मिलने वाले मुआवजे में बढ़ोतरी कर दी है। पहले परिजनों को 2 लाख रुपये मिलते थे अब इसे बढ़ाकर 8 लाख रुपये कर दिया है।

0
599
शहीदों के परिजनों को मिलने वाले मुआवजे को रक्षमंत्री राजनाथ सिंह ने बढ़ाया

नई दिल्ली। युद्ध में या आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों का मुआवजा मोदी सरकार ने बढ़ा दिया है। पहले शहीद जवानों के घरवालों को 2 लाख रुपये ही मिलता जो अब बढ़ाकर 8 लाख रुपये कर दिया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस फैसले पर सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। ये रकम आर्मी बैटल कैजुअलिटी वेलफेयर फंड के तहत दी जाएगी।

वेलफेयर फंड रक्षा मंत्रालय के एक्स-सर्विसमैन वेलफेयर (ESW) विभाग के मातहत होगा। इसकी स्थापना जुलाई 2017 में हुई थी। हालांकि इसे लागू साल अप्रैल 2016 से किया गया था। यह फंड चैरिटेबल एनडाउमेंट एक्ट, 1890 के तहत बनाया गया था। यह फंड चैरिटेबल एनडाउमेंट एक्ट, 1890 के तहत बनाया गया था। फंड के लिए साउथ ब्लॉक ब्रांच के सिंडिकेट बैंक में अकाउंट खोला गया था। जिसका एकाउंट  नंबर 90552010165915 था।

ये भी पढ़ें: Grenade attack: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में डिप्टी कमिश्नर ऑफिस को बनाया गया निशाना, 10 घायल

ये फंड शहीदों और घायलों के परिजनों को मिलने वाली विभिन्न स्कीम्स से अलग है। इसके साथ ही पहले से मौजूद मौनेट्री ग्रांट में विभिन्न रैंक के ऑफिसर्स के लिए 45 लाख से 25 लाख रुपये और आर्मी ग्रुप इंश्योरेंस में 40 लाख से 75 लाख रुपये तक का प्रावधान है। बता दें इससे पहले भी गृह मंत्री रहते हुए राजनाथ सिंह ने शहीदों और घायलों की मदद के लिए ‘भारत के वीर फंड’ लॉन्च किया था।

ये भी पढ़ें: त्योहार के मौसम में बड़ा हमला करने की फिराक में जैश के आतंकी, दिल्ली समेत कई बड़े शहरों में पुलिस की छापेमारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here