World Water Day: ’26 फीसदी लोगों को नहीं मिल रहा पीने का पानी’, पढ़ें क्या कहती है रिपोर्ट…

0
349

World Water Day: विश्व जल दिवस के मौके पर एक रिपोर्ट जारी की है। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने मंगलवार को ये रिपोर्ट जारी कि है जिसमे ये साफ तौर पर कहा गया है की दुनिया के 26 फीसदी आबादी के पास साफ़ पीने का पानी नहीं है। इसके अलावा 46 प्रतिशत लोगों के पास बुनियादी स्वच्छता तक नहीं पहुंच पा रहा है। यूएन विश्व जल विकास रिपोर्ट 2023 में स्वच्छ पानी और स्वच्छता तक सभी लोगों की पहुंच सुनिश्चित करने को लेकर ये सभी जानकारी दी गई है।

रिपोर्ट के एडिटर इन चीफ रिचर्ड कॉनर ने एक समाचार सम्मेलन में बताया कि इन लक्ष्यों को पूरा करने की जो लागत है वो लगभग 600 बिलियन अमेरीकी डॉलर और 1 ट्रिलियन अमेरीकी डॉलर के बीच की हो सकती है। रिचर्ड कॉनर ने ये भी बताया कि निवेशकों, फाइनेंसरों, सरकारों और जलवायु परिवर्तन समुदायों के साथ साझेदारी की जा रही है। ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि ये पैसा पर्यावरण को बचाए रखने में खर्च किया जायगा और 200 करोड़ लोगों को पीने का पानी मिल सके इसलिए भी ये किया जा रहा है।

इतना बढ़ गया पानी का उपयोग (World Water Day)
रिपोर्ट के मुताबिक विश्व स्तर पर बीते 40 सालों में हर साल लगभग एक प्रतिशत की दर से पानी का उपयोग बढ़ रहा है। 2050 तक ये समान दर से बढ़ने की उम्मीद की जा रही है। क्योंकि, जनसंख्या वृद्धि, सामाजिक-आर्थिक विकास और पानी के खपत पैटर्न बदल रहा है।

विकासशील देशों में ज्यादा बढ़ रही खपत
कॉनर ने कहा कि पानी की मांग में वृद्धि विकासशील देशों और उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं में हो रही है, जहां औद्योगिक विकास और विशेष रूप से शहरों की जनसंख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। उन्होंने आगे बताया कि वैश्विक स्तर पर 70 फीसदी पानी का इस्तेमाल कृषि के लिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि फसलों की सिंचाई के तरीके को बदलना होगा। कुछ देशों में अब ड्रिप सिंचाई का उपयोग किया जाता है, जिससे पानी की बचत होती है। उन्होंने कहा कि इससे शहरों को पानी उपलब्ध हो सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here