निर्भया केस: कोर्ट ने कहा- कानून देता है जीने का अधिकार तो फांसी देना होगा पाप

0
850

नई दिल्ली: निर्भया के दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के लिए दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने इनकार कर दिया है। कोर्ट ने अपना ये फैसला दिल्ली सरकार की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुनाया। कोर्ट ने कहा है कि अगर कानून जीने का अधिकार देता है तो फिर किसी को फांसी पर चढ़ाना पाप होगा।

बता दें कि दिल्ली सरकार ने कोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए निर्भया के दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने की मांग की थी। दिल्ली सरकार ने वकील ने सुनवाई के दौरान कहा कि किसी भी दोषी की कोई भी याचिका कोर्ट में लंबित नहीं है, इसलिए अब दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया जा सकता है।

इस पर कोर्ट ने पूछा कि क्या अभी एक दोषी की क्यूरेटिव पिटीशन और दया याचिका लगनी बाकी है? इसी के साथ कोर्ट ने ये भी पूछा कि ये कैसे मान लिया जाए कि दोषी नई याचिका नहीं लगाएंगे?

गौरतलब है कि निर्भया के चार दोषियों में से तीन ने अपने सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल कर लिया है, जबकि चौथे दोषी ने अभी तक क्यूरेटिव पिटीशन और दया याचिका दाखिल नहीं की है। इसी बीच निर्भया के दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने की मांग की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here