जानिए, शिवसेना ने BJP से क्यों छोड़ा 25 साल पुराना साथ, आखिर क्यों नहीं बनी बात

पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि यह जानना जरूरी है कि हमने अपने पुराने दोस्त के साथ 25 साल पुराना साथ क्यों छोड़ा

0
757

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के बीच सहमति लगभग बन गई है और शुक्रवार शाम तक सरकार बनाने को लेकर औपचारिक ऐलान भी हो सकता है। लेकिन इन सबके बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ने को लेकर अपने दिल की बात कही और बता दिया कि उन्होंने बीजेपी का साथ क्यों छोड़ा।

दरअसल, शिवसेना-एनसीपी के बीच देर रात तक बैठकों का दौर चलता रहा। शुक्रवार यानी आज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने विधायकों के साथ बैठक की। इसी बैठक में पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि यह जानना जरूरी है कि हमने अपने पुराने दोस्त के साथ 25 साल पुराना साथ क्यों छोड़ा। ठाकरे ने विधायकों से कहा कि एनसीपी-कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की नौबत बीजेपी की वजह से आई। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग हमसे झूठ बोल रहे थे। सभी जानते हैं कि उन्होंने बीते वर्षों में क्या बात कहीं और उन्होंने किया क्या।

एनसीपी-कांग्रेस के साथ बनाए गए नए गठबंधन लेकर ठाकरे ने कहा कि बीजेपी ने बाला साहेब ठाकरे को वचन दिया था कि शिवसैनिक सीएम बनेगा, लेकिन उन्होंने यह वचन तोड़ दिया। वहीं दोबारा चुनाव न कराने पड़ें, इसलिए हमने एनसीपी-कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का फैसला किया।

कांग्रेस और एनसीपी के साथ जाने को लेकर शिवसेना प्रमुख ने अपने विधायकों से कहा कि अब हम एक नए गठबंधन के साथ जा रहे हैं, इसमें अभी आखिरी स्टेज चल रही है और यह आज शाम तक फाइनल हो जाएगा।

वहीं यह बता दें कि शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर शाम करीब 4 बजे एक महत्वपूर्ण बैठक करेंगे और उसके बाद वे सरकार गठन का दावा पेश करने राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी से मिलने जाएंगे।

फिलहाल, शिवसेना ने अपने सभी 56 विधायकों को अगले कुछ दिनों तक मुंबई में ही बने रहने के लिए कहा है। बताया जा रहा है कि शिवसेना के विधायकों को मुंबई के ही एक होटल में रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here