कुछ ऐसी है राम मंदिर के नए मॉडल की तस्वीरें, साथ ही जानें इससे जुड़ी कुछ अहम बातें

राम मंदिर निर्माण के लिए बने ट्रस्ट ने भव्य मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की तस्वीरें भी जारी कर दी हैं। मंदिर का यह डिजाइन वास्तुकार निखिल सोमपुरा ने तैयार किया है।

0
381
Ram Mandir Model Photo
कुछ ऐसी है राम मंदिर के नए मॉडल की तस्वीरें, साथ ही जानें इससे जुड़ी कुछ अहम बातें

Uttarpradesh: श्रीराम जन्मभूमि  पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन बुधवार को होना है लेकिन इससे पहले मंगलवार को इसके नए मॉडल की तस्वीर (Ram Mandir Model Photo) सामने आ गई है। श्री राम जन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट ने आज या नी मंगलवार को श्री राम जन्मभूमि मंदिर की भव्‍य तस्‍वीरें जारी की हैं।

ट्रस्‍ट ने अपने टि्वटर के जरिए तस्वीरें जारी (Ram Mandir Model Photo) कर लिखा है, “श्री राम जन्मभूमि मंदिर भव्यता और दिव्यता की अद्वितीय कृति के रूप में विश्व पटल पर उभरेगा। मन्दिर के आंतरिक और बाह्य स्वरूप के कुछ चित्र” बता दें कि भूमि पूजन का तीन दिवसीय अनुष्ठान सोमवार सुबह नौ बजे शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों भूमि एवं शिला पूजन किया जाना है, इस दौरान कई विशिष्ट लोग इसके साक्षी बनेंगे।

भूमि पूजन से पहले हनुमान जी के दर्शन करेंगे पीएम मोदी, जानें अयोध्या से जुड़ी पूरी खबर

आइए जानते है राम मंदिर से जुड़ी कुछ अहम बातें-

1. आर्किटेक्ट प्रॉजेक्ट के अनुसार मंदिर को बनकर तैयार होने में तीन से साढ़े तीन साल का समय लगेगा। मंदिर तीन मंजिला होगा और यह वास्तुशास्त्र के हिसाब से बनाया जाएगा।

2. राम मंदिर की ऊंचाई में 33 फीट की वृद्धि की जा रही है। इसी वजह से एक और मंजिल बढ़ाना पड़ा है। मंदिर के पुराने मॉडल के हिसाब से मंदिर की लंबाई 268 फीट 5 इंच थी। इसे बढ़ाकर 280-300 फीट किया जा सकता है।

3. रामलला का गर्भगृह के ऊपर के हिस्से में शिखर बनाए जाएगा। मंदिर में पांच गुंबद होंगे। पहले के मंदिर मॉडल में सिर्फ दो ही गुंबद थे लेकिन नए मॉडल में मंदिर की भव्यता को बढ़ाने के लिए इसे 5 कर दिया गया है।

4. मंदिर के लिए नींव की खुदाई 20 से 25 फीट गहरी हो सकती है। प्लैटफॉर्म कितना ऊंचा होगा इस पर निर्णय राम मंदिर ट्रस्ट करेगा। अभी 12 फीट से 14 फीट तक की ऊंचाई की बात चल रही है।

5.रिपोर्ट के मुताबिक मंदिर बनने में कम से कम 100 करोड़ रुपये की लागत आएगी। उन्होंने यह भी कहा है कि यह खर्च बढ़ सकता है। निर्माण की अवधि की सीमा तय की जाएगी तो ज्यादा संसाधन चाहिए होंगे। इससे बजट भी बढ़ेगा।

यें भी पढ़ें- Ayodhya Ram Mandir: बीजेपी नेता उमा भारती भूमि पूजन कार्यक्रम में नहीं होंगी शामिल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here