Ram Mandir Ayodhya: राम मंदिर का नया डिजाइन आया सामने, जानें कैसे क्या होगा?

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में तीन की जगह अब 5 शिखर होंगे, जानिए कितना अलग होगा नया मॉडल।

0
486
Ram Mandir Ayodhya

Ayodhya: राम मंदिर का नया डिजाइन सामने आ गया है। वही अयोध्या में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Ayodhya) के लिए भूमि पूजन कि भव्य तैयारियां चल रही हैं। बताया जा रहा है कि इस  कार्यक्रम  की तारीख 5 अगस्त को तय की गई है (Ram Mandir Ayodhya) जिसमें पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह के अलावा मंदिरआंदोलन से जुड़े लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती के आने की संभावना है।

5 अगस्त को होगा राम मंदिर का भूमि पूजन, पीएम मोदी भी हो सकते है शामिल

हालांकि पीएम मोदी के आने के पुष्टि अभी तक नहीं की गई है। इस कार्यक्रम में चांदी की शिलाओं का पूजन किया जाएगा। (Ram Mandir Ayodhya) जिन्हें महंत नृत्य गोपाल दास मंदिर को अर्पित करेंगे। काशी और अयोध्या के 11 पुजारी पूजन करवाएंगे। हालांकि कोरोना की वजह से इस आयोजन में कम ही लोग शामिल होंगे। मिल रही जानकारी के मुताबिक भूमि पूजन गर्भगृह वाले स्थान पर होगा।

इसी के साथ राम मंदिर के नए मॉडल की बात करे तो जानकारी के मुताबिक मॉडल में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। लेकिन भव्यता के लिए ऊंचाई और दिव्यता के लिए थोड़ी चौड़ाई बढ़ा दी जाएगी। राम जन्मभूमि पर प्रस्तावित मंदिर पूर्व निर्धारित 128 फीट की बजाय 161 फीट ऊंचा होगा तथा उसमें तीन की बजाय पांच शिखर होंगे, वहीं अब राममंदिर के मुख्य शिल्पी चंद्रकांत सोमपुरा संशोधित लक्ष्य के अनुरूप मंदिर निर्माण की तैयारियों में जुट गये हैं।

आइए जानते है मंदिर निर्माण के लिए क्या-क्या परिवर्तन किए गए है…

पहले मंदिर में तीन शिखर थे अब 5 शिखर होंगे, मंदिर का निर्माण का एरिया 47000 स्काएर फिट था अब 57000 स्क्वएर फिट होना तय किया गया। मंदिर की ऊंचाई 128 से बदल कर अब 161 फिट कर दी गई। मंदिर परिसर के चारो ओर सीता जी, लक्ष्मण, भरत जी और गणेश जी के 4 मंदिर बनाने की बात भी राय आई है। मंदिर का एरिया 67 एकड़ से ज्यादा बढ़ाने की भी बात कही गई है।

यूपी सरकार सुनि़श्चित करें विकास दुबे जैसी घटना दोबारा ना हो : SC

बता दें कि राम मंदिर का पहला डिजाइन 1985-86 में बनाया गया था। उस समय श्रद्धालओं की भीड़ को देखते हुए डिजाइन को तैयार किया गया था, लेकिन अब श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए मंदिर के डिजाइन में बदलाव किया गया है। मंदिर को और भव्य रूप दिया गया है। मंदिर की लंबाई, ऊंचाई और चौड़ाई बढ़ाई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here