लेह पहुंचे राजनाथ सिंह, लेंगे हालात का जायजा

भारत और चीन के बीच विवाद की स्थितियों के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार सुबह लेह के दौरे पर पहुंचे हैं। इस दौरान उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी मौजूद हैं।

0
591
rajnath singh

गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत और चीन के बीच तनावपूर्ण स्थितियों के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh In Leh) शुक्रवार सुबह लद्दाख पहुंचे। उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख एमएम नरवणे भी लद्दाख पहुंचे है। बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के बाद अब रक्षामंत्री के लेह दौरे (Rajnath Singh In Leh) को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh In Leh) शुक्रवार सुबह भारतीय वायुसेना के विशेष विमान के जरिए दिल्ली से लेह के कुशक बाकुला रिंपोशे एयरपोर्ट पर पहुंचे। तीनों ही लोग लेह हवाई अड्डे पर उतरे। लेह एयरपोर्ट पर लद्दाख के सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल और सेना की 14वीं कोर के अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

चीन से सटी सीमा पर इस हथियार का इस्तेमाल करेंगे भारतीय जवान

इसके बाद वे सुरक्षा बलों की पैरा ड्रापिंग स्किल देखने के लिए लेह के स्टकना पहुंचे। स्टकना में भारतीय जवान पैरा ड्रापिंग अभ्यास कर रहे हैं, ताकि किसी भी विषम परिस्थिति में तैयार रहा जाए। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के सामने पैंगॉन्ग झील के पास पैरा कमांडोज ने युद्ध अभ्यास किया है। बता दें कि पैंगॉन्ग झील वही इलाका है जहां पर भारत और चीन के सैनिक आमने सामने आ गए थे। भारत रक्षामंत्री की मौजूदगी में एक बार ​फिर चीन को अपनी ताकत का एहसास करा रहा है।

सूत्रों के अनुसार राजनाथ सिंह अपने इस दौरे में सैन्य अधिकारियों के साथ एलएसी की स्थितियों पर चर्चा करेंगे। इसके अलावा वह अस्पताल में भर्ती उन जवानों से भी मुलाकात कर सकते हैं, जो कि गलवान घाटी में हुई झड़प में घायल हुए थे। राजनाथ सिंह यहां पर सुरक्षा एजेंसियों और सैन्य अधिकारियों के साथ एक बैठक में भी हिस्सा लेंगे।

बता दें कि गलवान घाटी में हिं​सक झड़प के बाद जुलाई के पहले हफ्ते में ही राजनाथ सिंह को लेह जाना था, लेकिन तब अचानक उनका दौरा रद्द हो गया था। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लेह पहुंच गए थे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख में मौजूद सेना को संबोधित भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here