Rajasthan Politics: सचिन पायलट पर कांग्रेस की बड़ी कार्रवाई

सचिन ने गहलोत को बहुमत साबित करने की चुनौती देकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं. पायलट ने अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री रहते उनके साथ काम करने से फिलहाल इनकार कर दिया है.

0
407
Rajasthan Politics

Jaipur: राजस्थान (Rajasthan) में सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Deputy CM Sachin Pilot) के बीच शह और मात (Rajasthan Politics) का खेल जारी है. दोनों नेताओं में से कई भी पीछे हटने को तैयार नहीं है. आज एक बार फिर कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई जिसमें सचिन पायलट (Sachin Pilot) और उनके समर्थन वाले विधायक नहीं पहुंचे. जिसके बाद कांग्रेस पार्टी (Congress) ने बड़ा एक्शन लेते हुए सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री के पद से हटा दिया है. साथ ही पायलट समर्थक मंत्रियों को भी हटाया गया है. सचिन पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह (Vishvendra Singh) और रमेश मीणा (Ramesh Meena) को मंत्रिमंडल से बाहर निकाला गया है.

क्या राजस्थान सरकार को सियासी संकट से बचा पाएगी प्रियंका गांधी ?

सचिन पायलट लगातार अपनी जिद पर अड़े हैं. सचिन ने गहलोत को बहुमत साबित करने की चुनौती (Rajasthan Politics) देकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं. पायलट ने अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री रहते उनके साथ काम करने से फिलहाल इनकार कर दिया है. सत्रों के मुताबिक, अब तक सचिन पायलट से राहुल गांधी ने एक बार, प्रियंका गांधी ने 4 बार, चिदंबरम ने 6 बार, अहमद पटेल ने 15 बार और के सी वेणुगोपाल ने 3 बार बात की है. सूत्रों के मुताबिक, प्रियंका गांधी ने 3 बार सचिन पायलट को फोन किया. पायलट ने जवाब नहीं दिया. प्रियंका गांधी के फोन का विधायक भंवरलाल शर्मा जवाब देते हैं. सचिन पायलट अपने रुख पर कायम हैं.

सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच वीडियो वार भी शुरू हो गया है. सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक मानेसर के होटल में ठहरे हुए हैं. सचिन पायलट गुट ने कल शाम एक वीडियो भी जारी किया था. सचिन पायलट के साथ 11 विधायक हैं जो वीडियो में नजर आए. इनमें विश्वेंद्र सिंह, हरीश मीणा, जीआर खटाणा, सुरेश मोदी, इंद्राज गुर्जर, राकेश पारीक, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, वेद प्रकाश सोलंकी, बृजेंद्र ओला और दीपेंद्र सिंह शेखावत शामिल हैं. सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट गुट 13 निर्दलीय विधायकों से भी संपर्क में हैं. हालांकि 13 में से 3 को पहले ही अशोक गहलोत ने निकाल दिया है. इसके साथ-साथ यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष, NSUI के अध्यक्ष और प्रदेश सेवा दल के अध्यक्ष सब गहलोत से नाराज हैं और राष्ट्रीय नेताओं के संपर्क में नहीं हैं.

Rajasthan Government: सचिन पायलट हो सकते है बीजेपी में शामिल

वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने एक षडयंत्र के तहत राजस्थान की 8 करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी है. बीजेपी ने साजिश के तहत कांग्रेस की सरकार को अस्थिर कर गिराने की साजिश की है. बीजेपी धनबल और सत्ताबल से कांग्रेस पार्टी और निर्दलीय विधायकों को खरीदने की कोशिश की है. रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सचिन पायलट भ्रमित होकर बीजेपी के जाल में फंस गए और कांग्रेस सरकार गिराने में लग गए. पिछले 72 घंटे से कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट और अन्य नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की. कांग्रेस की ओर से लगातार सचिन पायलट को मनाने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने लगातार हर बात को नकारा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here