PM मोदी बोले- कृषि क्षेत्र में किसानों की सहायता के लिए तकनीकी क्रांति की जरूरत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रवार को कर्नाटक दौरे का दूसरा दिन है। शुक्रवार को उन्होंने बेंगलुरु में भारतीय विज्ञान कांग्रेस में हिस्सा लिया। यहां उन्होंने भारतीय विज्ञान कांग्रेस के 107वें सेशन को संबोधित करते हुए कहा कि युवा वैज्ञानिक देश के विकास और जीवन को और आसान बनाने के लिए कार्य करें।

0
729

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रवार को कर्नाटक दौरे का दूसरा दिन है। शुक्रवार को उन्होंने बेंगलुरु में भारतीय विज्ञान कांग्रेस में हिस्सा लिया। यहां उन्होंने भारतीय विज्ञान कांग्रेस के 107वें सेशन को संबोधित करते हुए कहा कि युवा वैज्ञानिक देश के विकास और जीवन को और आसान बनाने के लिए कार्य करें।

बता दें कि इस मौके पर उन्होंने I-STEM पोर्टल को भी लॉन्च किया। पीएम मोदी ने कहा कि रिसर्च और डेवलपमेंट का एक ऐसा इकोसिस्टम इस शहर ने विकसित किया है, जिससे जुड़ना हर युवा वैज्ञानिक, हर इनोवेटर, हर इंजीनियर का सपना होता है। लेकिन इस सपने का आधार क्या सिर्फ अपनी प्रगति है, अपना करियर है? जी नहीं।’

पीएम मोदी ने आगे कहा कि न्यू इंडिया को टेक्नोलॉजी भी चाहिए और लॉजिकल टेम्परामेंट भी चाहिए ताकि हमारे सामाजिक और आर्थिक जीवन के विकास को हम नई दिशा दे सकें। आज देश में गवर्नेंस के लिए, जितने बड़े पैमाने पर साइंस एंड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हो रहा है, उतना पहले कभी नहीं हुआ। कल ही हमारी सरकार ने देश के 6 करोड़ किसानों को एक साथ पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा ट्रांसफर करके एक रिकॉर्ड कायम किया है।’

ग्रामीण विकास के बारे में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘भारत के विकास में खासतौर पर ग्रामीण विकास में टेक्नोलॉजी की उपयोगिता को हमें व्यापक बनाना है। आने वाला दशक भारत में साइंस और टेक्नोलॉजी आधारित गवर्नेंस के लिए एक अच्छा समय होने वाला है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here