PM मोदी ने ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और ऐप की लॉन्च, बोले- गांवों ने दिया ‘दो गज दूरी’ का संदेश

0
501

नई दिल्ली: पंचायती राज दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सभी ग्राम पंचायतों के प्रमुखों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और ऐप को लॉन्च किया। इस पोर्टल पर सभी ग्राम पंचायतों की परेशानी, समस्या और उनसे जुड़ी जानकारी मौजूद रहेगी।

पीएम मोदी ने इस संवाद में कोरोना को लेकर कहा कि कोरोना ने हम सभी के काम करने के तरीके को बहुत बदल दिया है। पहले हम किसी कार्यक्रम को आमने सामने रहकर करते थे। लेकिन आज वही कार्यक्रम वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से करना पड़ रहा है। आज इस कार्यक्रम में जुड़े सभी लोगों का मैं स्वागत करता हूं। आज कुछ लोगों को अच्छे कार्यों के लिए पुरस्कार मिले हैं। पुरस्कार पाने वाले सभी लोगों को बधाई और उस गांव के लोगों को भी बधाई।

आगे पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी ने हमारे लिए अनेक मुसीबतें पैदा की हैं, जिनकी हमने कभी कल्पना तक नहीं की थी। लेकिन इससे भी बड़ी बात ये है कि इस महामारी ने हमें नई शिक्षा और संदेश भी दिया है। मैं इस कार्यक्रम के माध्यम से सभी लोगों तक एक संदेश देना चाहता हूं। कोरोना संकट ने सबसे बड़ा सबक हमें जो सिखाया है, और उस रास्ते पर चलने के लिए जो रास्ता दिखाया है, वो रास्ता है कि अब हमें आत्मनिर्भर बनना ही पड़ेगा। बिना आत्मनिर्भर बने ऐसे संकटों से निपटना मुश्किल है।

गांव अपनी मूलभूत आवश्यकताओं के लिए आत्मनिर्भर बने, जिला अपने स्तर पर, राज्य अपने स्तर पर, और इसी तरह पूरा देश कैसे आत्मनिर्भर बने, अब ये बहुत आवश्यक हो गया है। आप सभी ने दुनिया को बहुत सरल शब्दों में मंत्र दिया है- ‘दो गज दूरी’ का, या कहें ‘दो गज देह की दूरी’ का। इस मंत्र के पालन पर गांवों में बहुत ध्यान दिया जा रहा है। ये आपके ही प्रयास हैं कि आज दुनिया में चर्चा हो रही है कि कोरोना को भारत ने किस तरह जवाब दिया है।

कोरोना की जानकारी के लिए बनी हेल्पलाइन डेस्ट
कोरोना से जुड़ी सही और सटीक जानकारी के लिए सरकार ने WhatsApp के साथ मिलकर एक हेल्पडेस्क भी बनाई है। अगर आपके पास WhatsApp की सुविधा है तो आप इस नंबर 9013151515 पर ‘नमस्ते’ खिलकर भेजेंगे तो आपको उचित जवाब मिलना शुरू हो जाएगा।

यहां सुनिए पूरा भाषण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here