पीएम करेंगे दुनिया की सबसे बड़ी रोड टनल का उद्घाटन, जानें खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश के रोहतांग पास के नीचे दुनिया के सबसे लंबे टनल ‘अटल टनल' का उद्घाटन करेंगे।

0
219
Atal Tunnel
पीएम करेंगे दुनिया की सबसे बड़ी रोड टनल का उद्घाटन, जानें खासियत

Himachal Pradesh: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 3 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश के रोहतांग पास के नीचे दुनिया के सबसे लंबे टनल ‘अटल टनल’ (Atal Tunnel) का उद्घाटन करेंगे। 9.02 किलोमीटर लंबा अटल सुंरग अब पूरे साल मनाली को लाहौल स्पीति के साथ जोड़ कर रखेगा. पहले ये घाटी भारी बर्फबारी के चलते साल में छह महीने तक आने जाने के लिये बंद रहता था. पर अब ये 24 घंटे और 12 महीनों चालू रहेगा।

भारत पहुंचा प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति का विशेष विमान, जानें खूबियां

मनाली से लेह को जोड़ने वाली दुनिया की सबसे लंबी अटल सुरंग (Atal Tunnel) आखिरकार 10 साल में बनकर तैयार हुई। पहले इसे 6 साल में बनाकर तैयार किया जाना था, लेकिन बाद में 4 साल और अधिक टाइम बढ़ाया गया। मनाली से लेह को जोड़ने वाली यह अटल टनल दुनिया की सबसे लंबी हाइवे टनल है। पीएमओ ने बताया कि अटल सुरंग दुनिया में सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग है और 9.02 लंबी सुरंग मनाली को वर्ष भर लाहौल स्पीति घाटी से जोड़े रखेगी।

अटल सुरंग 10,000 फीट से ज्यादा लंबी है। इससे मनाली और लेह के बीच के सफर की 46 किमी दूरी घटेगी इसके बनने से सबसे ज्यादा फायदा लद्दाख में तैनात भारतीय फौजियों को मिलेगी। क्योंकि इसके चलते सर्दियों में भी हथियार और रसद की आपूर्ति आसानी से हो सकेगी। अब सिर्फ जोजिला पास ही नहीं बल्कि इस मार्ग से भी फौजियों तक सामान की सप्लाई हो सकेगी।

इसमें हर 60 मीटर की दूरी पर CCTV कैमरे लगाए गए हैं। इतना ही नहीं सुरंग के भीतर हर 500 मीटर की दूरी पर इमर्जेंसी एग्जिट भी बनाए गए हैं। बता दें कि इसे बनाने में BRO के इंजीनियरों और कर्मचारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। क्योंकि सर्दियों में यहां काम करना बेहद मुश्किल हो जाता था। यहां पर तापमान माइनस 30 डिग्री तक चला जाता था। इस टनल को बनाने के दौरान 8 लाख क्यूबिक मीटर पत्थर और मिट्टी निकाली गई।

बापू की 151वीं जयंती पर राजघाट पहुंचकर पीएम ने दी श्रद्धांजलि

इस टनल की डिजाइन बनाने में DRDO ने भी मदद की है ताकि बर्फ और हिमस्खलन से इस पर कोई असर न पड़ सके। इस टनल के अंदर निश्चित दूरी पर सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे जो स्पीड और हादसों पर नियंत्रण रखने में मदद करेंगे। टनल के अंदर हर 200 मीटर की दूरी पर एक फायर हाइड्रेंट की व्यवस्था की गई है. ताकि आग लगने की स्थिति में नियंत्रण पाया जा सके।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here