हैदराबाद केस पर बोले राजनाथ सिंह- जिस पर सहमति बने हम वह कठोर कानून बनाने को तैयार

संसद के शीतकालीन सत्र का आज 11वां दिन है। राज्यसभा और लोकसभा दोनों सदनों में आज हैदराबाद गैंगरेप का मुद्दा उठाया गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में बोलते हुए कहा कि महिलाओं के खिलाफ हो रहे अत्याचारों को रोकने के लिए जिस कानून पर सहमति बने, हम वह कानून लाने के लिए तैयार हैं।

0
1485

नई दिल्ली: संसद के शीतकालीन सत्र का आज 11वां दिन है। राज्यसभा और लोकसभा दोनों सदनों में आज हैदराबाद गैंगरेप का मुद्दा उठाया गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में बोलते हुए कहा कि महिलाओं के खिलाफ हो रहे अत्याचारों को रोकने के लिए जिस कानून पर सहमति बने, हम वह कानून लाने के लिए तैयार हैं।

राजनाथ सिंह ने हैदराबाद गैंगरेप की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि इस घटना से पूरा देश शर्मसार हुआ है। सभी ने इसकी निंदा की है। इस घटना में जो भी अपराधी है उसे सजा मिलनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि निर्भया कांड के बाद एक कठोर कानून बना था, लेकिन उसके बाद भी जघन्य अपराध हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं फैसला आप पर(लोकसभा अध्यक्ष पर) छोड़ता हूं, जिस कानून को बनाने की सहमति बनेगी हम उसे बनाने के लिए तैयार हैं।

ये भी पढ़ें- संसद में उठा हैदराबाद गैंगरेप का मामला, जया बच्चन बोलीं- अब जनता सिखाए दोषियों को सबक

राज्यसभा में क्या बोलीं जया बच्चन
जया बच्चन ने राज्यसभा में महिलाओं की सुरक्षा का मामला उठाते हुए कहा, ‘ऐसे मामलों पर मैं पता नहीं कितनी बार बोल चुकी हूं। सरकार को अब कार्रवाई करनी चाहिए। एक दिन पहले ही हैदाराबाद में उसी जगह हादसा हुआ था। कुछ देशों में जनता दोषियों को सजा देती है। दोषियों को अब जनता ही सबक सिखाए।’

क्या बोले लोकसभा स्पीकर ओम बिरला
हैदराबाद गैंगरेप मामले पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि देश में घट रही इस तरह की घटनाओं से संसद भी चिंतित है। इसके साथ ही उन्होंने प्रश्नकाल के बाद इस मुद्दे पर चर्चा करने की अनुमति दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here