कोरोना के बीच आज मॉनसून सत्र शुरु, पूर्व राष्ट्रपति को दी गई श्रद्धांजलि

आज देश में संसद का मॉनसून सत्र शुरू हो चुका है। यह सत्र 1 अक्टूबर तक चलेगा। इसके साथ ही आज राज्यसभा के उपसभापति के लिए वोट भी डाले जाएंगे।

0
206
Monsoon Session 2020
कोरोना के बीच आज मॉनसून सत्र शुरु, पूर्व राष्ट्रपति को दी गई श्रद्धांजलि

New Delhi: कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus) के बीच आज देश में संसद का मॉनसून सत्र शुरू (Monsoon Session 2020)  हो चुका है। यह सत्र 1 अक्टूबर तक चलेगा। इसके साथ ही आज राज्यसभा के उपसभापति के लिए वोट भी डाले जाएंगे, जिसमें जेडीयू के हरिवंश और मनोज झा आमने-सामने हैं। कोविड-19 महामारी के समय में संसद का यह पहला सत्र है, इसलिए, संसद सत्र के दौरान कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के तहत सुरक्षा के सभी प्रबंध किए गए हैं।

मानसून सत्र से पहले 5 सांसद की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

बता दें कि संसद के हर सदन में (Monsoon Session 2020)  प्रतिदिन चार घंटे के सत्र होंगे। राज्य सभा का सत्र सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक और लोकसभा का सत्र दोपहर 3 तीन बजे से शाम 7 बजे तक चलेगा। संसद में आज पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पडित जसराज, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, मध्य प्रदेश के गवर्नर रहे लालजी टंडन, उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रहे कमला रानी और चेतन चौहान, पूर्व मंत्री रघुवंश प्रसिद सिंह को श्रद्धांजलि देने के साथ ही सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई है।

18 दिन के इस सत्र में कुल 18 बैठकें होंगी। इस दौरान सभी शनिवार और रविवार कार्य दिवस होंगे। मॉनसून सत्र-2020 के दौरान कुल 47 विषय कार्यसूची के लिए तय किये गए हैं। संसद के मानसून सत्र के पहले दिन आज डीएमके और सीपीआई (एम) ने लोकसभा में NEET परीक्षा के लेकर छात्रों की आत्महत्या को लेकर कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया है।

PM मोदी ने बिहार में पेट्रोलियम प्रोजेक्ट का किया लोकार्पण

बता दें कि सत्र शुरू होने से ठीक पहले मीडिया को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने हिन्दी दिवस पर शुभकामनाएं दी। मोदी ने कहा कि इस अवसर पर हिन्दी के विकास में योगदान दे रहे सभी भाषाविदों को मेरा हार्दिक अभिनंदन। पीएम मोदी ने कहा कि जबतक कोरोना वायरस की कोई दवाई नहीं आ जाती तबतक कोई ढिलाई न बरती जाए।

पीएम मोदी ने कहा कि इस सत्र में कई महत्वपूर्ण निर्णय होंगे, अनेक विषयों पर चर्चा होगी और हम सबका अनुभव है कि लोकसभा में जितनी ज़्यादा चर्चा होती है उतना सदन को, विषय वस्तु को और देश को भी लाभ होता है। इस बार भी उस महान परम्परा में हम सब सांसद भी वेल्यू एडिशन करेंगे, ये हम सबका विश्वास है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here