6 राज्यों के 25 हजार मजदूरों के लिए शुरु की गई योजना

कोरोना संकट काल में प्रवासी मजदूरों के हालात पर केंद्र सरकार एक खास अभियान शुरू किया है. इस योजना का नाम गरीब कल्याण रोजगार है.

0
451
Garib Kalyan Yojna
File Picture

Delhi: कोरोना (Corona Virus) काल में देश के विभिन्न राज्यों से पलायन कर प्रवासी मजदूर अपने-अपने गांव पहुंचे. जिसके बाद मजदूरों पर रोजगार संकट खड़ा हो गया. प्रवासी मजदूरों को रोजगार मुहैया के लिए गरीब कल्याण योजना (Garib Kalyan Yojna) शुरु की गई है. इसे देश के छह राज्यों के 116 जिलों में शुरू किया जाएगा.

इस कार्यक्रम (Garib Kalyan Yojna) के लिए 116 जिलों के 25 हजार से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों के साथ इस अभियान में बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा इन 6 राज्यों को चुना गया है, जिसमें इच्छा जताने वाले 27 जिले शामिल हैं. इन जिलों से दो तिहाई प्रवासी श्रमिकों के लाभान्वित होने का अनुमान है.

भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 13,586 नए मामले

बता दें कि कोरोना संकट काल में प्रवासी मजदूरों के हालात पर केंद्र सरकार (Central Government) एक खास अभियान शुरू किया है. इस योजना का नाम गरीब कल्याण रोजगार है. योजना की लॉन्चिंग 20 जून को पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने की. वहीं, इस योजना के बारे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) ने गुरुवार को मीडिया को जानकारी दी.

इस योजना में देश के विभिन्न शहरों से पलायन कर अपने-अपने गांव पहुंचे प्रवासी मजदूरों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा. इसके साथ ही साथ अभियान को देश के छह राज्यों के 116 जिलों में शुरू किया जाएगा. 20 जून को अभियान को शुरू करने के मौके पर इन राज्यों के मुख्यमंत्री और संबंधित मंत्रालय के मंत्री भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे.

Surya Grahan 2020: 21 जून को लगेगा खास सूर्य ग्रहण, 87 साल बन रहा है ऐसा संयोग

ये योजना 50 हजार करोड़ रुपये की लागत से शुरू की जा रही है और इस योजना के तहत कामगारों को 25 प्रकार के काम दिए जाएंगे. इस योजना से बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा को फायदा होगा. इसका फायदा 25 हजार प्रवासी मजदूरों को मिलने का दावा किया जा रहा है. सरकार का दावा है कि मजदूरों की स्किल मैपिंग की गई है.

इससे पहले, गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निजी क्षेत्र के लिए 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी प्रक्रिया की लॉन्चिंग की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज हम सिर्फ कॉमर्शियल कोल माइनिंग के लिए नीलामी प्रक्रिया की शुरुआत नहीं कर रहे हैं, बल्कि कोल सेक्टर को दशकों के लॉकडाउन से भी बाहर निकाल रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here