अदनान पद्मश्री विवाद में कूदीं मायावती, कहा- सामी को पद्मश्री, तो पाक मुस्लिमों को पनाह क्यों नहीं ?

पाकिस्तानी मूल के सिंगर अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार के मिलने के बाद से राजनीति तेज हो गई है। इस राजनीतिक घमासान में अब बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती भी कूद पड़ी हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर अगर अदनान सामी को भारत में पद्मश्री मिल सकता है तो, पाकिस्तानी मुस्लिमों को सीएए के तहत भारतीय नागरिकता क्यों नहीं मिल सकती।

0
652

लखनऊ: पाकिस्तानी मूल के सिंगर अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार के मिलने के बाद से राजनीति तेज हो गई है। इस राजनीतिक घमासान में अब बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती भी कूद पड़ी हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर अगर अदनान सामी को भारत में पद्मश्री मिल सकता है तो, पाकिस्तानी मुस्लिमों को सीएए के तहत भारतीय नागरिकता क्यों नहीं मिल सकती।

मायावती ने ट्वीट कर लिखा, ‘पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी को जब बीजेपी सरकार नागरिकता व पद्मश्री से भी सम्मानित कर सकती है तो फिर जुल्म-ज्यादती के शिकार पाकिस्तानी मुसलमानों को वहां के हिन्दू, सिख, ईसाई आदि की तरह यहां CAA के तहत पनाह क्यों नहीं दे सकती है? अतः केन्द्र CAA पर पुनर्विचार करे तो बेहतर होगा।’

अदनान सामी को मिला है पद्मश्री पुरस्कार
बता दें कि इस बार भारत सरकार की ओर से अदनान सामी को भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 2016 में उन्हें भारतीय नागरिकता दी गई थी। अब जबकि उन्हें पद्मश्री से नवाजा गया है तो इस पर विवाद शुरू हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here