EU सांसदों ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- 370 भारत का आंतरिक मामला

जम्मू-कश्मीर के दौरे पर आए 23 यूरोपीय सांसदों के दल ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूरोपीय प्रतिनिधिमंडल ने अपने घाटी के दौरे के अनुभव को साझा किया और साथ ही कहा कि भारत एक शांतिप्रिय देश है। इसके साथ ही उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के नाज़ी लवर्स वाले बयान पर भी प्रतिक्रिया दी।

0
744

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के दौरे पर आए 23 यूरोपीय सांसदों के दल ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूरोपीय प्रतिनिधिमंडल ने अपने घाटी के दौरे के अनुभव को साझा किया और साथ ही कहा कि भारत एक शांतिप्रिय देश है। इसके साथ ही उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के नाज़ी लवर्स वाले बयान पर भी प्रतिक्रिया दी।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने वाले मामले को देश का आंतरिक मामला बताया साथ ही कहा कि हमारे दौरे को राजनीतिक दृष्टि से देखा गया, जबकि ये सही नहीं है। हम तो यहां हालातों का जायजा लेने के लिए आए थे। वहीं, ओवैसी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि हम लोग नाजी लवर्स नहीं हैं अगर ऐसा होता तो हमें कभी भी चुना नहीं जाता।

ये भी पढ़ें- EU सांसदों ने डल झील की सैर के बाद सरपंचों से की मुलाकात, जानिए कैसा रहा विदेशी मेहमानों का पूरा दौरा

इतना ही नहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने इस शब्द पर काफी आपत्ति भी जताई। जानकारी के लिए बता दें कि ओवैसी ने यूरोपियन सांसदों की तुलना नाजी लवर्स से की थी। ओवैसी ने उनके इस दौरे को भी राजनीतिक दौरा करार दिया था, जिस पर यूरोपियन प्रतिनिधिमंडल ने सफाई पेश की है।

370 आंतरिक मसला

वहीं, जब उनसे अनुच्छेद 370 के बारे में पूछा गया तो उन्होंने साफ तौर पर कहा कि ये भारत का आंतरिक मामला है। इसके साथ ही उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच के संबंधों के बारे में बोलते हुए कहा कि अगर दोनों देशों को आपस में शांति स्थापित करनी है तों उन्हें आपस में बातचीत करनी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here