सेना ने वीडियो जारी कर बिहार रेजीमेंट को बताया ‘बैटमैन’

सेना ने 1 मिनट 57 सेकेंड का वीडियो (Indian Army Video) जारी किया है। वीडियो में लिखा है, ‘लड़ाई के लिए ही जन्मे। वे वही करते हैं जो करना चाहिए।

0
514
Indian Army Video
File Picture

Delhi: पूर्वी लद्दाख (Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीन के साथ हिंसक झड़प में शहीद होने वाले ज्यादातर जवान भारतीय सेना (Indian Army) की बिहार रेजीमेंट (Bihar Regiment) के थे। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शहीद हुए जवानों के शौर्य को सलाम किया। जिसके बाद सेना की उत्तरी कमान ने यूनिट की लड़ाई के इतिहास का जश्न मनाने वाला एक वीडियो (Indian Army Video) ट्वीट किया। जिसके जरिए चीन पर चुटकी भी ली गई है।

भारतीय सेना ने चीनी सेना अधिकारी को बनाया था बंधक : सूत्र

सेना ने 1 मिनट 57 सेकेंड का वीडियो (Indian Army Video) जारी किया है। वीडियो में लिखा है, ‘लड़ाई के लिए ही जन्मे। वे वही करते हैं जो करना चाहिए। वे बैट नहीं हैं। वे बैटमैन हैं।’ इसमें कहा गया है, ‘दोस्तों, भारतवासियों, देशवासियों, मुझे अपने कुछ साल उधार दे दें। 21 साल पहले कारगिल युद्ध के दौरान और हर बड़े युद्ध- 1857, 1948, 1965, 1971 और 1999 में बिहार रेजीमेंट ने अपनी अलग छाप छोड़ी है।’

इस वीडियो में गलवां घाटी का कोई जिक्र नहीं है। जहां चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ हुई झड़प में 20 जवान शहीद हो गए। इन शहीदों की कहानी को शहीद हुए तीन जवानों की तस्वीरों के जरिए बताया गया। इसमें 16वीं बटालियन के कमांडर कर्नल संतोष बाबू भी शामिल हैं। बैटमैन की श्रद्धांजलि बिहार रेजीमेंट के युद्ध घोष- बजरंग बली की जय से पहले आती है। इसके बाद सशस्त्र बलों का विजय गीत सुनाई देता है।

सेना के जवानों ने माइनस शून्य डिग्री पर ऐसे मनाया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

सेना या वीडियो निर्माता ने इसे लेकर आधिकारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा है। वहीं बैट और बैटमैन की तुलना को लेकर ट्विटर पर लोग कमेंट कर रहे हैं। इस तुलना को चीन में पैदा हुए कोरोना वायरस से जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि माना जाता है कि चमगादड़ों (बैट) के जरिए यह संक्रमण इंसानों में फैला है। रविवार शाम को 7:30 तक बजे तक सेना के इस वीडियो को 11.4 हजार से ज्यादा लाइक्स मिल चुके थे। वहीं इसे 5400 लोगों ने शेयर किया है।

रविवार दोपहर को गरीब कल्याण योजना की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार रेजीमेंट के जवानों के साहस की तारीफ की था। उन्होंने कहा, ‘लद्दाख में हमारे वीरों ने जो बलिदान दिया है, मैं गौरव के साथ इस बात का जिक्र करना चाहूंगा कि ये पराक्रम बिहार रेजीमेंट का है, हर बिहारी को इसका गर्व होता है। जिन सैनिकों ने अपना बलिदान दिया है उन्हें मैं श्रद्धांजलि देता हूं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here