भारत को घेरने के लिए चीन ने बांग्लादेश का थामा हाथ

भारत को पूरी तरह से घेरने को तैयार चीन। शी ने यह बात दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 45वीं वर्षगांठ पर कही है।

0
163
India-China Fight
भारत को पूरी तरह से घेरने को तैयार चीन। शी ने यह बात दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 45वीं वर्षगांठ पर कही है।

Beijing: भारत को पूरी तरह से घेरने के लिए चीन रणनीति (India-China Fight) बना रहा है। रणनीति के तहत चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा है कि वह बांग्लादेश के साथ रणनीतिक संबंधों को और बेहतर बनाने के लिए तैयार हैं। उन्होंने दोनों देशों के रणनीतिक संबंधों (India-China Fight) को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव को संयुक्त रूप से बढ़ावा देने के लिए कहा है।

राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने यह बात दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 45वीं वर्षगांठ पर बांग्लादेशी समकक्ष मोहम्मद अब्दुल हमीद के साथ बधाई संदेशों (India-China Fight) के आदान-प्रदान में कही। अपने बधाई संदेश में शी ने स्थिर और दीर्घकालिक दोस्ती की सराहना करते हुए कहा कि वह हामिद के साथ बेहतर विकास रणनीतियों को पहले से ज्यादा बेहतर करने के लिए तैयार किया गया हैं। 

कोरोना की चपेट में ट्रंप, क्या राष्ट्रपति रेस से हटाए जाएंगे?

उन्होंने कहा कि बीआरआइ परियोजना के तहत दोनों देश सहयोग बढ़ाएं और चीन-बांग्लादेश रणनीतिक साझेदारी को नए मुकाम पर ले जाएं। बांग्लादेश की आधारभूत (India-China Fight)परियोजना में चीन अब तक 26 अरब डॉलर का निवेश कर चुका है और 38 अरब डॉलर निवेश की प्रतिबद्धता जताई है। चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को बधाई संदेश भी भेजा था। जिसमें उन्होंने कहा था कि बांग्लादेश और चीन की समय के साथ परखी गई दोस्ती अब रणनीतिक साझेदारी में तब्दील  हो गई है। जानकारी के अनुसार चीन ने बांग्लादेश में 26 अरब डॉलर का निवेश किया है जबकि 38 अरब डॉलर निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई है। 

भारतीय एयरबेस पर पहली बार उतरा अमेरिकी एयरक्राफ्ट, बेचैन हुआ चीन

बीआरआई बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव चीन का एक खास प्रोजेक्ट (India-China Fight) है जो द्वीपों और महाद्वीपों को जोड़ने के लिए नहीं बल्कि उन पर चीन का एकछत्र राज्य स्थापित करने की विस्तारवादी बदनीयती की ज़िंदा मिसाल है। भारत बीआरआई के मार्ग के एक बहुत बड़ी बाधा माना जा रहा है। इसलिए चीन को अब बांग्लादेश को भी अपना दोस्त बनाकर भारत को कमजोर करने की नीति चलानी पड़ा रही है। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here