हाथरस में भारी हंगामा, पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं पर भांजी लाठियां

उत्तर प्रदेश के हाथरस के छोटे से गांव बुलगाढ़ी में दर्दनाक घटना के बाद से पूरे देश में रोष देखने को मिल रहा हैं।

0
201
Hathras Rapekand
उत्तर प्रदेश के हाथरस के छोटे से गांव बुलगाढ़ी में दर्दनाक घटना के बाद से पूरे देश में रोष देखने को मिल रहा हैं।

Hathras: उत्तर प्रदेश के हाथरस के छोटे से गांव बुलगाढ़ी में दर्दनाक घटना के बाद से पूरे देश में रोष देखने को मिल (Hathras Rapekand) रहा हैं। बुलगाढ़ी गांव में पूरी तरह से शांति भंग हो चुकी है। गांव में पुलिस का पहरा लगा हुआ है। पूरे मामले की जांच करने के लिए एसआईटी की टीम (Hathras Rapekand) आज गांव पहुंची है। बता दें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पीड़िता के घर जाने के बाद से सियासत तेज होती जा रही है।  

इस पूरी घटना में सियासत का खेल इस कदर चल रहा है कि सभी पार्टियां अपनी-अपनी रोटियां सेकने में लगी हुई हैं। क्योंकि यूपी में दरिंदगी (Hathras Rapekand) का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी बेटियों के साथ इस तरह के मामले सामने आते रहे हैं। सवाल यह उठता है कि क्या इन पार्टियों में से कोई भी एक ऐसी पार्टी हैं जो उस पीड़ित युवती को इंसाफ दिला सके! 

हाथरस केस CBI तक पहुंचा, क्या पीड़ित परिवार को मिलेगा इंसाफ?

कांग्रेस के बाद आज समाजवादी पार्टी के नेताओं ने हाथरस गैंगरेप (Hathras Rapekand) के पीड़ित परिवार से मुलाकात की। सपा नेता धमेंद्र यादव, अक्षय यादव, सपा विधायक संजय लठार परिवार से मिलने पहुंचे थे। इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं ने यूपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सपा कार्यकर्ताओं को हटाने के लिए पुलिस (Hathras Rapekand) ने उनपर लाठीचार्ज किया। मामला इस हद तक बढ़ गया कि पुलिस प्रशासन के रोकने के बावजूद RLD के कार्यकर्ताओं ने हाथरस में लगे बेरीकेट्स को तोड़ कर रख दिया। सुत्रों की माने तो सपा कार्यकर्ताओं ने योगी सराकर के खिलाफ दंगा भड़काने की साजिश की हैं।   

हाथरस केस में मारी गई लड़की की वायरल तस्वीर का सच, दो साल पहले हो चुकी है मौत

एक तऱफ सपा कार्यकर्ता हंगामा (Hathras Rapekand) करने पर उतर आए तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा कि हाथरस के पीड़ित परिवार के अनुसार सबसे बुरा बर्ताव डीएम का था। उन्हें कौन बचा रहा है? उन्हें अविलंब बर्खास्त (Hathras Rapekand) कर पूरे मामले में उनके रोल की जांच हो। परिवार न्यायिक जांच मांग रहा है तब क्यों सीबीआई जांच का हल्ला करके SIT की जांच जारी है। यूपी सरकार यदि जरा भी नींद से जागी है तो उसे परिवार की बात सुननी चाहिए। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here