UAE में भारतीयों का सपना हुआ पूरा, भव्य राममंदिर का उद्घाटन, अद्भुत है मंदिर की खूबसूरती

0
111

Dubai Hindu Temple: इस्लामिक देश संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में राम मंदिर का आधिकारिक तौर पर उद्घाटन कर दिया गया है। UAE में कई धर्मों के लोगों को एक साथ लाते हुए ये सहिष्णुता, शांति और सद्भाव की एक शक्तिशाली निशानी बनाई गई है। ये मंदिर अमीरात के जेबल अली में कॉरिडोर ऑफ टॉलरेंस में बनाया गया है। औपचारिक रूप से इस मंदिर को 4 अक्टूबर को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया था। कॉरिडोर ऑफ टॉलरेंस में 9 धार्मिक स्थल हैं, जिसमें सात चर्च, एक मंदिर और एक गुरुद्वारा है।

दीप जलाकर हुआ उद्घाटन

सहिष्णुता और सह-अस्तित्व मंत्री शेख नाहयान बिन मुबारक अल नाहयान ने मंदिर में दीपक जला कर इसका उद्घाटन किया। मुख्य प्रार्थना कक्ष में रिबन काटने से इस आयोजन की शुरुआत की गई। इस मौके पर शेख नाहयान के साथ UAE में भारतीय राजदूत संजय सुधीर ने भी हिस्सा लिया है। हिंदू मंदिर दुबई के ट्रस्टी राजू श्रॉफ के साथ लगभग 200 लोगों अन्य लोगों ने भी हिस्सा लिया था।

पहले से स्थित गुरूद्वारे के पास बना मंदिर

भारतीय राजदूत संजय सुधीर ने इस मौके पर कहा कि आज दुबई में एक नए हिंदू मंदिर का उद्घाटन किया गया है जो भारतीय समुदाय के लिए स्वागत करने योग्य खबर है। इस मंदिर का उद्घाटन UAE में रहने वाले हिंदू समुदाय की धार्मिक आकांक्षाओं को पूर्ण करता है। नए मंदिर एक गुरूद्वारे से जोड़कर बनाया गया है जिसे 2012 में खोला गया था।

सच हुआ सपना

हिंदू मंदिर दुबई के ट्रस्टी राजू श्रॉफ ने इस मौके पर कहा कि मंदिर का उद्घाटन सिर्फ हिंदुओं के लिए नहीं, बल्कि पूरे संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाले भारतीयों के लिए एक सपने का सच होने जितना है। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना के बावजूद दुबई सरकार के समर्थन के कारण निर्माण कार्य बाधित नहीं हुआ। ये मंदिर दुबई और यूएई की सरकार के दयालु होने का प्रतीक है।

ऑनलाइन बुकिंग के जरिए हुई एंट्री

मंदिर में एंट्री करने के लिए पहले से रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। भक्त मंदिर पहुंचने से पहले ऑनलाइन ही इस काम को करेंगे। सितंबर में लगभग 2 लाख लोगों ने रजिस्ट्रेशन कर अपनी एंट्री कर चुके हैं।

जल्द बनेगा कम्युनिटी हॉल

मंदिर के अधिकारियों की ओर से कहा गया है कि इस साल के अंत तक यहां एक विशाल कम्युनिटी हॉल बनाया जाएगा। जहां हिंदू समारोह जैसे विवाह, नामकरण और यज्ञोपवीत संस्कार आयोजित किए जा सकेंगे। मंदिर के पास एक बड़ा किचन मौजूद है, जहां खाने पीने के विकल्प हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here