Password से होता है छेड़छाड़ तो Google Chrome करेगा अलर्ट

Google Chrome ने एंड्रॉयड और आईओएस का नया डिवाइस शुरु किया है। इस डिवाइस से आपका पासवर्ड सेफ जोन में चला जाएगा।

0
156
Google Password Security 2020
Google Chrome ने एंड्रॉयड और आईओएस का नया डिवाइस शुरु किया है। इस डिवाइस से आपका पासवर्ड सेफ जोन में चला जाएगा।

New Delhi: Google Chrome ने एंड्रॉयड और आईओएस का नया डिवाइस शुरु किया है। इस डिवाइस से आपका पासवर्ड सेफ जोन में चला जाएगा। यानी Google ने पासवर्ड (Google Password Security 2020)  फीचर को अपडेट किया गया है। अगर अपने गूगल क्रोम ब्राउजर (Google Password Security 2020)  पर पासवर्ड सेव किया है और उससे छेड़छाड हो जाए, तो ब्राउजर अर्लड करेगा। इसके बाद यूजर चेंज पासवर्ड में जाकर पासवर्ड को बदल सकता हैं। 

क्रोम आपके यूजरनेम और पासवर्ड की एक कॉपी को स्पेशल एनक्रिप्शन फॉर्म में Google को भेजेगा. इसके बाद गूगल आपके username और password (Google Password Security 2020) से छेड़छाड़ किए बिना दी गई जानकारी को चेक करेगा। गूगल ने Chrome 86 में कुछ अन्य सिक्योरिटी फीचर को भी जोड़ा है। इससे यूजर को Android पर सेफ ब्राउजिंग (Safe Browsing) की सुविधा मिलेगी। साथ ही, क्रोम ब्राउजर के नए फीचर यूजर्स को फिशिंग, मैलवेयर और खतरनाक साइट से भी सुरक्षा मिलेगी। इसके लिए रियल टाइम डाटा गूगल सेफ ब्राउजिंग सर्विस के साथ शेयर किया जाता है। 

आईफोन 12 की कीमतें हुईं लीक, 12 अक्टूबर को हो सकता है लॉन्च

इतना ही नहीं, क्रोम ने iOS में ऑटोफिलिंग पासवर्ड (Chrome 86) के लिए बायोमैक्ट्रिक ऑथेंटिकेशन (biometric authentication) फीचर को एड किया है। यूजर Face ID, Touch ID और phone passcode के जरिए ऑथेंटिकेशन सेट कर सकते हैं। यदि आप सेटिंग्स (Chrome 86) में क्रोम ऑटोफिल को ऑन करते हैं, तो क्रोम पासवर्ड मैनेजर आपको आईओएस ऐप्स या ब्राउजर में सेव पासवर्ड को ऑटोफिल करने की सुविधा देता है.

Google Chrome एंड्रॉयड और आईओएस के लिए पासवर्ड सिक्योरिटी और अन्य सेफ्टी फीचर्स संबंधी सुधार लेकर आई है। अगर आपके सेव किए गए पासवर्ड के साथ छेड़खानी होती है, तो ब्राउज़र आपको तुरंत अलर्ट करते हुए पासवर्ड बदलने (Chrome 86) का फोर्म भेजेगा। Chrome आपके यूज़रनेम और पासवर्ड की एक कॉपी को सुरक्षित फॉर्मेट में Google को भेजेगा, जिसके बाद गूगल उस सुरक्षित फॉर्मेट में से आपके यूज़रनेम और पासवर्ड को बिना निकाले, छेड़छाड़ की गई जानकारी की जांच करेगा। 

Whatsapp को मिला नया बीटा अपडेट, नया फीचर हुआ लॉन्च

टेक्नोलॉजी दिग्गज ने ने वेब स्टैंडर्ड के लिए सपोर्ट जोड़ा है, जो वेबसाइट्स को पासवर्ड बदलने का यूआरएल देने का काम करता है। इससे यूज़र्स के पासवर्ड (Chrome 86) बलने की प्रक्रिया आसान हो जाती है। इस स्टैंडर्ड के उपयोग से क्रोम यूज़र्स को उनके पासवर्ड से छेड़छाड़ होने का अलर्ट देगा और उसके तुरंत बाद उन्हें सीधा उस वेबपेज पर ले जाएगा, जहां वे अपना पासवर्ड बदल सकते हैं। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here