गौरव चंदेल मर्डर केस: पुलिस ने कार के बाद मोबाइल किया बरामद, मिर्ची गैंग पर शक

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में हुई गौरव चंदेल की हत्या को 10 दिन बीत चुके हैं। पुलिस मामले की छानबीन में लगी हुई है। मंगलवार को पुलिस ने गौरव चंदेल की कार गाजियाबाद के मसूरी से बरामद की थी। इसी कड़ी में पुलिस को अब गौरव चंदेल का मोबाइल मिला है।

0
873

नोएडा: ग्रेटर नोएडा वेस्ट में हुई गौरव चंदेल की हत्या को 10 दिन बीत चुके हैं। पुलिस मामले की छानबीन में लगी हुई है। मंगलवार को पुलिस ने गौरव चंदेल की कार गाजियाबाद के मसूरी से बरामद की थी। इसी कड़ी में पुलिस को अब गौरव चंदेल का मोबाइल मिला है।

ऐसी संभावना जताई जा रही है कि गौरव के मोबाइल से उनकी हत्या से जुड़े बड़े सबूत पुलिस के हाथ लग सकते हैं। बताया जा रहा है कि हत्यारों ने गौरव का मोबाइल वारदात की जगह के आस-पास ही फेंक दिया था। जिसके बाद वह मोबाइल एक राह चलते शख्स ने उठा लिया था। मोबाइल को ट्रेस किया गया तो फोन की लोकेशन का पता कर मोबाइल बरामद कर लिया गया।

गौरतलब है कि ग्रेटर नोएडा की गौड़ सिटी में रहने वाले गौरव चंदेल 6 जनवरी की रात को रहस्यमयी हालत में गायब हो गए थे। गौरव गुरुग्राम (हरियाणा) की एक मल्टीनेशनल कंपनी में रीजनल मैनेजर के पद पर कार्यरत थे। मंगलवार की रात को पुलिस ने गौरव की कार घटनास्थल से 40 किलोमीटर दूर गाजियाबाद के मसूरी से बरामद की थी।

मिर्ची गैंग का हो सकता है हाथ
गौरव चंदेल की कार बरामद होने के बाद पुलिस 100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। पुलिस ने इस हत्याकांड में 1 दर्जन गिरोह की जांच-पड़ताल के बाद तीन गैंग को शॉर्ट लिस्ट किया है। पुलिस ने मिर्ची गैंग पर भी शक जताया है। मिर्ची गैंग के सरगना प्रवीण उर्फ आशु जाट इस तरह की लूट और हत्या की कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है।

बता दें कि गौरव के घर वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने पुलिस स्टेशन का रुख किया, लेकिन पुलिस ने अगले दिन चंदेल को ढूंढ लेने की बात कहकर परिजनों को वहां से टरका दिया। इसके बाद परिजनों ने खुद ही गौरव के शव को बरामद किया। इसके बाद परिजनों ने उच्चाधिकारियों से पुलिस की लापरवाही की शिकायत की, जिसके बाद CO को मामले की जांच सौंपी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here