किसानों को होगा भारी मुनाफा, अपनाएं ये अनोखा तरीका…

आज हम आपको एक ऐसी हर्बल (Herbal) खाद के बारे में बता रहे हैं जिसके इस्तेमाल से उपज (Yield) तो डबल होती ही है साथ में इनकम (Income) भी दोगुनी होती है।

0
187
Farmers News
किसानों को होगा भारी मुनाफा, अपनाएं ये अनोखा तरीका...

नई दिल्ली: आज हम आपको एक ऐसी हर्बल (Herbal) खाद के बारे में बता रहे हैं जिसके इस्तेमाल से उपज (Yield) तो डबल होती ही है साथ में इनकम (Income) भी दोगुनी होती है। इस हर्बल खाद (Herbal Manure) की मदद से पशुओं के लिए उत्तम चारा (Good fodder) उगाया जा सकता है। जिसके खाने से पशुओं की कई समस्या दूर हो जाती है इसके साथ ही दूध का उत्पादन भी बढ़ाया जा सकता है। इस हर्बल खाद के एक नहीं अनेक फायदे हैं, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। इस हर्बल खाद का नाम है अजोला। खेती में अजोला के प्रयोग से कई लाभ मिलते हैं। फसल में नाइट्रोजन (Nitrogen) की मात्रा बढ़ती है। खेतों में कम समय में जैविक (Organic) पदार्थ का कम समय में अधिक उत्पादन होता है। अजोला फसलों में जिंक, मैगनीज, लोहा, फॉस्फोरस, पोटाश की मात्रा को बढ़ाता है।

ये भी पढ़े: अब इन लोगों को भी मिलेगा PM किसान सम्मान निधि योजना का लाभ, जानें कई बड़े बदलाव

सबसे पहले जानते हैं आखिर क्या है अजोला

दरअसल, अजोला (Ajola) एक जलीय पौधा है जिसे धान की खेती में खाद के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। ये पौधा अक्सर तालाबों (Ponds) में तैरता हुआ दिखाई देगा जो एक तरह की फर्न है। ये धान के खेतों में भी पाया जाता है। अगर अजोला को धान की खेती में उपयोग किया जाए तो उपज की मात्रा बढ़ सकती है। इसे धान के खेत में जैव खाद (Organic manure) के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। खेतों में उर्वरक इसलिए ही डाले जाते हैं ताकि उससे नाइट्रोजन (Nitrogen) की मात्रा बढ़े। नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ने से अच्छी पैदावार मिलती है।

ये भी पढ़े: टिकट बुकिंग पर पाएं 10 फीसदी तक का वैल्यूबैक, ऐसे करें इस्तेमाल

5 दिन में हो जाता है दोगुना

एजोला (Ajola) की विशेषता ये है कि ये अनुकूल वातावरण (Friendly environment) में 5 दिनों में ही दो-गुना हो जाता है। यदि इसे पूरे वर्ष बढ़ने दिया जाये तो 300 टन से भी अधिक सेन्द्रीय पदार्थ (Central substance) प्रति हेक्टेयर पैदा किया जा सकता है, यानी 40 किलोग्राम नत्रजन प्रति हेक्टेयर प्राप्त हो सकता है। अजोला में 3.5 प्रतिशत नत्रजन तथा कई तरह के कार्बनिक पदार्थ होते हैं जो भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ाते हैं।

किसानों को होगा डबल फायदा

अजोला के उपयोग से किसानों डबल मुनाफा होता है। दुधारू पशुओं (Milch animals) के आहार में महंगी सरसों व मूंगफली (Mustard and peanuts) की खली की पूर्ति अब अजोला (Green fodder) करेगा। इस हरे चारे से पशुओं में 15 से 20 फीसदी दूध बढ़ाया जा सकता है। क्योंकि इसमें 25 से 35 फीसदी तक प्रोटीन की मात्रा मिलती है।

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Business News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here