बिजली निजीकरण पर यूपी में मचा बवाल, सड़कों पर उतरे कर्मचारी

उत्तर प्रदेश में बिजली को लेकर बवाल मचा हुआ। बिजली विभाग के कर्मचारी हड़ताल पर बैठे हुए है।

0
139
Electricity Department Privatization
उत्तर प्रदेश में बिजली को लेकर बवाल मचा हुआ। बिजली विभाग के कर्मचारी हड़ताल पर बैठे हुए है।

Lucknow: उत्तर प्रदेश में बिजली को लेकर बवाल मचा हुआ। बिजली विभाग के कर्मचारी हड़ताल पर बैठे हुए है। बता दें यह बवाल बिजली विभाग (Electricity Department Privatization) के निजीकरण को लेकर हो रहा है। कल हुई बैठक में कोई समाधान नही निकलने पर कर्मचारियों (Electricity Department Privatization) में रोष देखने को मिल रहा है।

इसी के चलते अलग अलग जिलों में बिजली विभाग के कर्मचारियों ने आंदोलन करने का फैसला किया है। इस बैठक में उर्जा मंत्री ने निजीकरण के प्रस्ताव (Electricity Department Privatization) को वापस लेने की घोषणा करते हुए सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किया। लेकिन UPPCL के विद्युत कर्मचारियों के बीच अभी सहमति नहीं बनी है।

बता दें कि राज्य में बीते सोमवार बिजली कर्मचारियों के हड़ताल ने रात भर लोगों का जीना दुष्वार कर दिया है। क्योंकि बिजली कर्मचारियों (Electricity Power Cut) के विरोध प्रदर्शन के कारण सूबे में करोड़ों लोगों को बिजली से बिना रहना पड़ रहा हैं। इस दौरान सिर्फ आमजन ही नहीं बल्कि कई अधिकारियों के घर की बत्ती गुल हैं। इस कारण लोगों के पास पानी की समस्या भी उठ खड़ी हुई और लोगों को पानी की दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा है। 

24 घंटे में मिले कोरोना के 61,267 नए मामले, 884 की हुई मौत

हड़ताल कर रहे कर्मचारियों की माने तो सरकार तानाशाही रवैया (Electricity Power Cut) अपना रही है। इसी वजह से सरकार ने बिजली विभाग में निजीकरण करने का फैसला किया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि साल 2018 में हुए समझौते का सरकार को पालन करना चाहिए। लेकिन इस मसले पर सरकार का ध्यान नहीं है। 

दरअसल 5 अप्रैल 2018 को बिजली विभाग (Electricity Power Cut) के कर्मचारियों और सरकार के बीच एक उर्जा प्रबंधन के साथ समझौता किया गया था। इसमें कहा गया था कि सरकार बिजली विभाग में निजीकरण के किसी भी फैसले को लेने से पहले बिजली विभाग के कर्मचारियों से बातचीत करके फैसला लिया जाएगा। लेकिन सरकार ने ऐसा नहीं किया और बिजली विभाग को निजीकरण करने का फैसला बिना बताए कर दिया। 

PFI से जुड़े 4 लोग गिरफ्तार, UP में माहौल बिगाड़ने का लगा आरोप

एक तरफ नोएडा में यूपीपीसीएल में निजीकरण (Electricity Power Cut) के विरोध में  रहे बिजली कर्मचारी । इसके चलते नोएडा और ग्रेटर नोएडा के वीआईपी इलाकों में भी सोमवार दोपहर से बिजली सप्लाई प्रभावित रही। बिजली ना आने से जिले में हाहाकार मचा हुआ है। तो वहीं दूसरी तरफ रायबरेली जिले में विद्युत वितरण के निजीकरण का विरोध जारी है। प्रदेशव्यापी कार्य बहिष्कार में जेई, लाइनमैन समेत सैकड़ों कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन किया। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here