धुंध की चादर में लिपटी राजधानी दिल्ली, सरकार ने पड़ोसी राज्यों को ठहराया जिम्मेदार

राजधानी दिल्ली में लगातार प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। दिसंबर से पहले ही दिल्ली स्मॉग की चादर में लिपटी हुई है। आलम ये है कि स्मॉग के चलते लोगों को सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही है और इतना ही नहीं आंखों में जलन होने की समस्या भी काफी बढ़ गई है। कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 600 के पार पहुंच चुका है, जो काफी गंभीर स्थिति है।

0
983

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में लगातार प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। दिसंबर से पहले ही दिल्ली स्मॉग की चादर में लिपटी हुई है। आलम ये है कि स्मॉग के चलते लोगों को सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही है और इतना ही नहीं आंखों में जलन होने की समस्या भी काफी बढ़ गई है। कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 600 के पार पहुंच चुका है, जो काफी गंभीर स्थिति है।

राजधानी में बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली सरकार बड़ी मुहिम चलाने जा रही है। दरअसल, 1 नवंबर से दिल्ली सरकार स्कूलों में लाखों मास्क बाटेगी। सरकार की तरफ से कुल 50 लाख मास्क बांटने की योजना है। कहा जा रहा है कि हर स्कूली बच्चे को दो मास्क दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें- दिल्ली-NCR में धुंध का कहर, हवा में घुला जहर

इन इलाकों में AQI बेहद खराब स्थिति में

आनंद विहार में एक्यूआई का स्तर 690, बवाना में 666, जहांगीरपुरी में 575, वजीरपुर में 567, रोहिणी में 552, अलीपुर में 532, नोएडा में 532, ग्रेटर नोएडा में 528, झिलमिल में 522, गाजियाबाद में 520, मुंडका में 514, सोनिया विहार में 497, पंजाबी बाग में 494 और मंदिर मार्ग में 488 के पार दर्ज किया गया।

दिल्ली सरकार ने पराली को ठहराया जिम्मेदार

राजधानी दिल्ली में बढ़ते धुंध के कहर के लिए दिल्ली सरकार ने पड़ोसी राज्य पंजाब और हरियाणा को जिम्मेदार ठहराया है। दिल्ली सरकार का कहना है कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण और धुंध के लिए पंजाब-हरियाणा में जलाई जा रही पराली जिम्मेदार है। इसी के चलते आप कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को पंजाब और हरियाणा भवन के बाहर जमकर हंगामा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here