कब तक आएगी कोरोना वैक्सीन? किसे लगेगा पहला टीका

डॉ हर्षवर्धन ने 28 सितंबर को कोविड-19 वैक्सीकन पोर्टल लॉन्च किया था। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने यह पोर्टल बनाया है।

0
169
Covid-19 Vaccine
सितंबर को कोविड-19 वैक्सीकन पोर्टल लॉन्च किया था। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने यह पोर्टल बनाया है।

New Delhi: कोविड-19 महामारी से पूरी दुनिया परेशान है। हर किसी व्यक्ति का यही सवाल है कि आखिर कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) कब तक आएगी। क्योंकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोगों में हाहाकार मचा हुआ हैं। बता दें कि कोविड के 150 से भी ज्‍यादा टीकों पर दुनियाभर में रिसर्च और ट्रायल हो रहे हैं। अभी तक किसी भी वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) को ग्‍लोबल यूज के लिए अप्रूव नहीं किया गया है। केवल रूस ने एक वैक्‍सीन Sputnik V को अगस्‍त में मंजूरी दी थी जिसके बड़े पैमाने पर फेज-3 ट्रायल के नतीजों का दुनिया इंतजार कर रही है। 

सेहतमंद दिल के लिए अपनी लाइफस्टाइल में करें ये बदलाव

भारत में भी कोविड के तीन टीकों (Covid-19 Vaccine) का फेज दो से तीन बार ट्रायल चल रहा है। इनमें से दो वैक्‍सीन भारतीय वैज्ञानिकों ने ही डेवलप की हैं। कोविड टीका कब तक आएगा, किसको पहली डोज मिलेगी, ये सब सवाल हैं जिनके जवाब केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन रविवार को देंगे। ‘संडे संवाद’ कार्यक्रम में हर्षवर्धन भारत का कोविड वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) प्‍लान सामने रखेंगे। 

दरअसल स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने 28 सितंबर को कोविड-19 वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) पोर्टल लॉन्‍च किया था। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने यह पोर्टल बनाया है। इसपर लोगों को भारत में कोविड-19 वैक्‍सीन से जुड़ी जानकारी दिखेगी। धीरे-धीरे अलग-अलग बीमारियों की वैक्‍सीन से जुड़ा सारा डेटा यहां पर उपलब्‍ध (Covid-19 Vaccine) करा दिया जाएगा। आप देख पाएंगे कि कौन सी वैक्‍सीन ट्रायल के किस स्‍टेज में है और उसके पहले के नतीजे क्‍या रहे हैं। 

कमजोर हड्डियों से हैं परेशान तो अपनी डाइट में शामिल करें ये 5 तत्व…

देश में वैक्‍सीन कैंडिडेट्स बनाने के अलावा सरकार दूसरे देशों में जारी वैक्‍सीन ट्रायल पर भी नजर रखे हुए है। कोशिश ये है कि जैसे ही किसी वैक्‍सीन को ग्‍लोबल यूज (Covid-19 Vaccine) की मंजूरी मिलती है, उसे भारत ले आया जाए। इसके लिए विदेश मंत्रालय और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारी एक-दूसरे से बातचीत कर रहे है। डॉ. हषवर्धन ने कहा कि कई मंचों से कह चुके हैं कि कोरोना वैक्‍सीन उपलब्‍ध होने पर सबसे पहले हेल्‍थकेयर और फ्रंटलाइन (Covid-19 Vaccine) वर्कर्स को मिलेगी। इसके बाद बुजुर्गों और गंभीर बीमारियों वाले मरीजों को प्राथमिकता दी जाएगी। उसके बाद ही बाकी लोगों लिए उपलब्ध करवाई जाएगी। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here