कोरोना संकट में विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को लाने की तैयारी में सरकार, ये है प्लान

0
514

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से कुछ भारतीय नागरिक विदेशों में फंसे हुए हैं। अब ऐसे नागरिकों को भारत वापस लाने की तैयारी की जा रही है। विदेश मंत्रालय ने इस बाबत शनिवार को प्रेजेंटेशन दिया। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की ओर से बुलाई गई शीर्ष अधिकारियों की इस बैठक में विदेश में फंसे नागरिकों को वापस लाने की योजना पर विचार किया गया।

विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला ने ‘एग्जिट प्लान’ के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि विदेश में फंसे हुए नागरिकों को किस तरह से स्वदेश वापस लेकर आना है, इस पर काम किया जा रहा है। इसके साथ भी ये भी देखा जा रहा है कि किस देश में कितने नागरिक फंसे हुए हैं और उन्हें लाने के लिए कितनी प्लाइट्स की जरूरत पड़ेगी।

ये भी पढ़ें- इस बार रमजान में ज्यादा इबादत करें, ताकि ईद से पहले खत्म हो जाए कोरोना : PM मोदी

हर्ष श्रृंगला ने बताया कि भारतीय नागरिकों को वापस लाने से पहले कोशिश की जाएगी कि वो COVID-19 निगेटिव सर्टिफिकेट के साथ वापस आएं। ऐसा करने से हमारे लिए लोगों को क्वारनटीन कैंपों में और होम क्वारनटीन में भेजने में आसानी होगी। इसके साथ ही ये भी देखा जाएगा कि सबसे पहले किन नागरिकों को स्वदेश लाने की सबसे ज्यादा जरूरत है।

बता दें कि सरकार की ओर से ‘विशेष उड़ानों’ को भारत के विभिन्न राज्यों में हवाई अड्डों पर लाने का प्लान किया जा रहा है। विदेशों से भारतीय नागरिकों को वापस लाने की योजना को लेकर केंद्र की ओर से राज्यों को सतर्क करते हुए कहा गया है कि जैसे ही इस प्लान को मंजूरी मिले, वैसे ही राज्य सरकारों को इसे अमल में लाने पर काम शुरू कर देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here