सुप्रीम कोर्ट का निर्देश- कोरोना वायरस का फ्री टेस्ट सुनिश्चित करे सरकार

0
508

नई दिल्ली: कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। कोरोना संकट की इस स्थिति से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट होने जरूरी है। अब सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिए हैं कि प्राइवेट लैब को जांच के पैसे लेने की अनुमति नहीं होनी चाहिए। इसके लिए सरकार को एक प्रक्रिया बनानी चाहिए।

बता दें कि कोर्ट ने ये निर्देश कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा के लिए दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया। कोर्ट ने कहा कि ये लोग योद्धा हैं और उनकी और उनके परिवार के लोगों की सुरक्षा बेहद जरूरी है।

ये भी पढ़ें- कोरोना पर PM मोदी ने की सर्वदलीय बैठक, विपक्षी नेताओं से रखी ये 5 मांग

इस सुनवाई के दौरान आगे कोर्ट ने कहा कि सरकार को एक प्रक्रिया बनानी चाहिए, जिसमें प्राइवेट लैब में जो लोग अपना टेस्ट कराएं, उनका पैसा रिइम्बर्स किया जा सके। कोर्ट ने कहा कि प्राइवेट लैब को जांच के लिए पैसे लेने की अनुमति नहीं होनी चाहिए।

118 लैब में हर दिन हो रहे हैं 15 हजार टेस्ट
वहीं, सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने जानकारी देते हुए बताया कि अभी 118 लैब प्रति दिन 15000 टेस्ट कर रहे हैं। इसके अलावा अब 47 प्राइवेट लैब को भी टेस्ट की इजाजत देने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here