भारत में कोरोना का रिकवरी रेट 48.07 फीसदी, हर रोज हो रहे 1 लाख 20 हजार टेस्ट

0
453
कोरोना का रिकवरी रेट 48.07 फीसदी

भारत में कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ रहे हैं, लेकिन इसी बीच राहत खबर ये है कि मरीजों के ठीक होने की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोना का रिकवरी रेट 48.07 फीसदी हो गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी. वहीं, देश में टेस्टिंग की सुविधा बढ़ाई गई है. देश में हर दिन 1 लाख 20 से ज्यादा टेस्टिंग हो रही है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में लव अग्रवाल ने कहा, हमारी कोशिश समय से कोरोना मामलों की पहचान और इलाज की है. अब तक 95,527 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं. पिछले 24 घंटे में 3708 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. हमारी रिकवरी रेट 48.07% फीसदी है. 15 अप्रैल को देश में कोरोना का रिकवरी रेट 11.42 फीसदी था.

अग्रवाल ने कहा, देश में कोरोनी से मृत्यु दर 2.82% है. यह दुनिया में सबसे कम मृत्यु दर में से है. भारत की 10 फीसदी आबादी में से ही कोरोना से जुड़ी आधी मौतें हुई हैं. कोरोना से मरने वाले 73 फीसदी लोगों को अन्य तरह की दिक्कतें भी थीं.

कोरोना वायरस के मामलों को लेकर लव अग्रवाल ने कहा कि दुनिया के देशों से तुलना करना सही नहीं होगा. अन्य देशों के मुकाबले भारत की जनसंख्या ज्यादा है. अगर हम तुलना कर भी रहे हैं तो इसको ध्यान में रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि समान जनसंख्या वाले 14 देशों की बात करें तो वहां भारत से 22.5 गुना अधिक मामले और 55.2 गुना ज्यादा मौतें हुई हैं.

वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस में आईसीएमआर ने कहा कि हम अन्य स्वतंत्र प्लैटफॉर्म्स का इस्तेमाल भी कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने के लिए कर रहे हैं. ट्रूनैट स्क्रीनिंग ऐंड कन्फर्मेट्री टेस्ट को मान्यता दे दी गई है. इससे टेस्टिंग का दायरा बढ़ा .देश के 681 लैब कोरोना टेस्ट के लिए मान्यता प्राप्त हैं. इनमें से 476 सरकारी और 205 प्राइवेट हैं. हर दिन 1 लाख 20 टेस्ट किए जा रहे हैं.

दरअसल,भारत में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है. स्थिति ये है कि 7-8 हजार लोग हर रोज संक्रमित हो रहे हैं. अब तक 1 लाख 98 हजार 706 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं. जबकि 5598 लोगों की मौत हुई है. महाराष्ट्र में कोरोना का आंकड़ा 70 हजार के पार हो चुका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here