राहत पैकेज की तीसरी किस्त, मछुआरों को मिली जगह, पढ़ें वित्त मंत्री की अहम बातें

0
554
Finance Minister Nirmala Sitharaman

केंद्र सरकार द्वारा दिए गए 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को जानकारी दी. उन्होंने पैकेज में किसानों और ग्रामीण भारत के लिए दी गई राहतों को के बारे में बताया. दरअसल, कोरोना संकट काल में अर्थव्यवस्था को बूस्ट देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से किए 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया गया था.

निर्मला सीतारमण आर्थिक राहत पैकेज के ऐलान के बाद तीसरे दिन मीडिया से मुखातिब हुईं. ये वित्त मंत्री द्वारा राहत की तीसरी किस्त है. इसमें मछुआरों को भी जगह मिली है. वित्त मंत्री ने कहा, 20 हजार करोड़ की प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना, जिसकी घोषणा बजट में की गई, कोरोना की वजह से इसे तत्काल लागू किया जा रहा है. इसमें समुद्री और अंतर्देशीय मत्स्य पालन के लिए और 9,000 करोड़ रुपये इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास में लगाया जाएगा.

मछुआरों को नई नौकाएं दी जाएंगी, 55 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा. इससे भारत का निर्यात दोगुना बढ़कर 1 लाख करोड़ रुपये का हो जाएगा. अगले 5 साल में 70 लाख टन अतिरिक्त मत्स्य उत्पादन होगा. वित्त मंत्री ने आगे कहा, माइक्रो फूड इंटरप्राइज के लिए 10,000 करोड़ की स्कीम लाई गई है.

उदाहरण देते हुए निर्मला सीतारमण ने बताया कि बिहार में मखाना के क्लस्टर, केरल में रागी, कश्मीर में केसर, आंध्र प्रदेश में मिर्च, यूपी में आम से जुड़े क्लस्टर बनाए जा सकते हैं. इसका लाभ करीब 2 लाख माइक्रो फूड इंटरप्राइज को मिलेगा.

सीतारमण के अनुसार, कृषि का आधारभूत ढांचा बनाने के लिए 1 लाख करोड़ की योजना लाई गई. लॉकाडाउन के दौरान पीएम किसान फंड में 18,700 करोड़ ट्रांसफर किए गए है. PM फसल बीमा योजना के तहत 6,400 करोड़ का क्लेम पेमेंट हुआ. 5000 करोड़ की अतिरिक्त लिक्विडिटी का लाभ किसानों को हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here