दीया के प्रकाश से मिटेगा कोरोना का अंधकार, देश भर में आज जलाए जाएंगे दीपक…

0
653
प्रधानमंत्री नरेंद मोदी

देश आज यानी कि 5 अप्रैल को 9 बजकर 9 मिनट पर दीया और मोमबत्ती जलाकर रोशनी करेगा. दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश वीडियो संदेश में कहा था कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत हरा सकती है. इसके लिए पीएम मोदी ने लोगों से रविवार को रात 9 बजे 9 मिनट तक दीया जलाने की अपील की है…

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है. संकट के इस वक्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से एकजुटता का संदेश दिया है. पीएम ने देशवासियों से 5 अप्रैल को लाइटें बंद रखने का आह्वान किया. इस पर देश की जनता आज दीया, मोमबत्ती और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने को तैयार है.

कोरोना संकट के चलते देश में 21 दिनों तक लॉकडाउन किया गया है. लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो के जरिए संदेश दिया था. प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए पीएम ने लोगों से रविवार को रात 9 बजे 9 मिनट तक दीया जलाने की अपील की, इसका मकसद एकजुटता का संदेश देने से है.

प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा था कि 5 अप्रैल रविवार को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति से हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. उन्होंने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है.

हालांकि, पीएम नरेंद्र मोदी के संदेश के बाद ऐसी आशंका जताई जा रही थी कि एक ही समय में एक साथ लाइटें बंद होने और 9 मिनट बाद फिर से चालू होने से बिजली ग्रिड में परेशानी आ सकती है. इस मामले पर केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय का कहना है कि ग्रिड के संतुलन के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं.

ऊर्जा मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि स्ट्रीट लाइट बंद नहीं की जाएंगी. घरों के अन्य उपकरण बंद करने की जरूरत नहीं है. एसी, टीवी, फ्रिज इन सब को बंद करने की जरूरत नहीं है. केवल लाइट ही बंद करनी है. अस्पतालों और अन्य आवश्यक जगहों पर लाइटें जलती रहेंगी.

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था, उन्होंने अपील की थी कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन शाम को पांच बजे कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे कोरोना कमांडोज के लिए थाली जरूर बजाएं. इस मौके पर भी पूरे देश ने एकजुटता दिखाई थी. लेगों ने कोरोना कमांडोज के लिए ताली-थाली बजाकर उनका हौसला अफजाई किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here