क्या China और WHO कोरोना वैक्सीन पर कर रहा है साजिश?

0
211
Corona Vaccine
कोवैक्स से अब तक 160 से ज्यादा देश जुड़ गए हैं, जिसमें ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और कनाडा जैसे विकसित देश भी शामिल हैं।

New Delhi: कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में थमने का नाम नहीं (Corona Vaccine) ले रहा। इसके चलते WHO ने कोवैक्स गठबंधन शुरु किया है। इस कोवैक्स को इस तरह बनाया गया है कि अमीर देश फंडिंग करें और इससे गरीब देशों को भी लाभ मिल सके। आपको बता दें चीन कोवैक्स से जुड़ने को तैयार नहीं था लेकिन फिर अचानक जुड़ गया, जबकि अमेरिका इस गठबंधन (Corona Vaccine) का हिस्सा नहीं है। भारत ने अब तक इससे जोड़ने की बात साफ नहीं की है। WHO के अनुसार कोवैक्स से अब तक 160 से ज्यादा देश जुड़ गए हैं, जिसमें ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और कनाडा जैसे विकसित देश भी शामिल हैं। 

बता दें ये सभी ऐसे देश हैं जो कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) बनाने के आखिरी चरण में हैं। इनका काम वैक्सीन सबको दिलवाना है। इसके लिए सभी देशों को दो श्रेणियों में रखा गया है – एक तो वो देश, जो खुद को फाइनेंस कर सकते हैं और दूसरे वो देश जिन्हें फंडिंग की जरूरत पड़ेगी। पहली श्रेणी के देश वैक्सीन की पूरी कीमत चुकाएंगे और कुछ गरीब देशों को बहुत कम या कुछ भी नहीं देना होगा। इस तरह से कोवैक्स काम करने वाला है। 

रूस की वैक्सीन को बड़ा झटका, भारत ने बड़े स्तर पर ट्रायल की नहीं दी मंजूरी

देशों ने मिलकर वैक्सीन की रिसर्च और निर्माण (Corona Virus) के लिए पहले ही 1.4 बिलियन डॉलर कोवैक्स को दिए हैं, हालांकि WHO के मुताबिक अभी और पैसों की जरूरत है। इसके लिए उसने अमेरिका और रूस से भी कोवैक्स में शामिल होने की बात की है, लेकिन दोनों ही महाशक्तियों ने इससे इनकार कर दिया। इसकी बजाए ये दोनों ही देश वैक्सीन बनाकर दूसरे कई देशों से द्विपक्षीय समझौते कर रहे हैं ताकि उनकी बनाई वैक्सीन खरीदी जाए। 

वैसे अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप पहले ही WHO पर चीन से मिले होने और करप्ट (Corona Virus) होने का आरोप लगा चुके हैं। कोरोना के मामले में देर से आगाह करने के कारण ट्रंप संगठन की अमेरिकी फंडिंग भी पहले ही रोक चुके हैं। ऐसे में कोवैक्स स्कीम से अमेरिका के जुड़ने का सवाल ही नहीं आता। रूस का भी कोवैक्स से न जुड़ना अमेरिकी देखादेखी माना जा रहा है। रूस वैक्सीन की दौड़ में सबसे आगे है और वहां कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण भी शुरू हो चुका है। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here