केंद्र सरकार ने प्याज के एक्सपोर्ट पर लगाई रोक, बढ़ती कीमतों को लेकर उठाया कदम

प्याज की आसमान छूती कीमतों के बीच केंद्र सरकार ने इसके निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। देशभर में प्याज की किल्लत के बाद इसकी कीमतों में भारी उछाल को देखते हुए इसके निर्यात पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है।

0
912
फाइल फोटो
प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच केंद्र सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी है

नई दिल्ली। देश में प्याज की बढ़ती कीमतों को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसके निर्यात पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है। मोदी सरकार ने ये फैसला प्याज की कीमतों को नियंत्रण में रखने के लिए लिया है। दिल्ली समेत देश के ज्यादातर हिस्सों में प्याज 50 रुपये से लेकर 80 रुपये किलो तक के भाव में बिक रहा है।

इस मामले पर वाणिज्य मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए कहा है कि प्याज निर्यात निति में संसोधन किया गया है और इसके निर्यात पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। ये रोक प्याज की सभी किस्मों पर रहेगी। इससे पहले केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने कहा था कि केंद्र के पास पर्याप्त मात्रा में प्याज का स्टॉक है और सरकार देश के विभिन्न राज्यों में आपूर्ति करने जा रही है जिससे प्याज की कीमतों में कमी आएगी।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान पीएम इमरान खान की बेगम बुशरा को लेकर दावा, पालती हैं जिन्न; खिलाती हैं कच्चा मांस

सरकार को ये डर भी है कि अगले कुछ दिनों में कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं और कहीं प्याज की कीमतों का असर इन चुनावों पर हुआ तो इसका नतीजा अच्छा नहीं होगा। चुनावों को देखते हुए सरकार कोई रिस्क नहीं लेना चाहती। प्याज के निर्यात पर रोक सरकार ने तत्काल प्रभाव से लगा दी क्योंकि पहले भी प्याज की कीमतों की वजह से सरकारें हिल गई हैं।

इस बीच दिल्ली सरकार ने मोबाइल बैन के जरिए 24 रुपये किलो के भाव में प्याज को बेचना शुरू भी कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को दिल्ली सचिवालय से मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दिल्ली की 70 विधानसभाओं में 70 मोबाइल बैन प्याज बेचेंगी। इसके साथ साथ राशन की 400 दुकानों पर भी सस्ता प्याज बेचा जाएगा।

ये भी पढ़ें: ऑटो रिक्शा चालक का कटा 18 हजार रुपये का चालान तो पी ली फिनाइल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here